किसी भी जीवित कोशिका के अन्दर होने वाली वह रासायनिक क्रिया जो उस कोशिका को ऊर्जा और पोषण देती है और जीवन को बनाये रखती है, उसे मेटाबॉलिज़्म कहते है।

मेटाबॉलिज़्म क्या है?

अगर शरीर ट्रेन है तो कोशिका उसका इंजन है, और इंजन की भट्टी में डालने वाला कोयला पोषक तत्त्व है और उसमें जलने वाली आग ही मेटाबॉलिज़्म है। कोयले (पोषक तत्त्व) की कमी से आग कमज़ोर पड़ जाता है।

डाइट और फ़िटनेस के क्षेत्र में मेटाबलिज़्म का उपयोग पाचन और कोशिकाओं के द्वारा पोषक तत्वों के उपयोग से जोड़ कर बताया जाता है। मोटापा घटाने के लिए मेटाबलिज़्म तेज़ होना चाहिए। सुस्त मेटाबलिज़्म वाले लोग मोटापे का शिकार हो सकते हैं।

मेटाबॉलिज़्म - Metabolism information Hindi

मेटाबलिज़्म के प्रकार

कटैबलिज़्म । Catabolism

सूक्ष्म तत्वों के विभाजन से ऊर्जा उत्पन्न करना, ताकि कोशिका द्वारा उसका उपयोग हो सके (इस स्थिति में कोशिका तत्वों को तोड़ती है)

एनैबलिज़्म । Anabolism

कोशिका की ज़रूरत के अनुरूप सूक्ष्म तत्वों का इस्तेमाल करके कुछ बनाना ( इस स्थिति में कोशिका तत्वों को जोड़ती है)

मेटाबॉलिज़्म, पोषण और ऊर्जा का सम्बन्ध

पोषण ही मेटाबॉलिज़्म के लिए सब कुछ है। जब शरीर को पोषण मिलता है तो मेटाबलिज़्म में इन पोषक तत्वों का इस्तेमाल होता है। मेटाबॉलिज़्म में इन पोषक तत्वों को तोड़ कर ऊर्जा (कैलोरी) बनायी जाती है। अंत में जिसका इस्तेमाल प्रोटीन और न्युक्लिक एसिड बनाने में किया जाता है जो कि कोशिका को जीवित रखने और बढ़ने में मदद करता है। सही पोषण के अभाव में तो मेटाबलिज़्म बिगड़ जायेगा और अगर यह प्रोसेस बिगड़ा तो ऊर्जा नहीं मिलने से शारीरिक विकास नहीं हो सकता है।