एलो वेरा जूस अमीनो एसिड, वाइटमिंस और मिनिरल्स से भरपूर होता है। एलोवेरा का जूस आपके पाचन तंत्र को बेहतर बनाकर शरीर को नुकसान पहुँचाने वाले तत्वों को बाहर निकाल देता है। इसके साथ ही एलो वेरा जूस आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले पॉलीसेकेराइड्स से भी युक्त होता है; जिससे आप बदलते मौसम या बीमार लोगों के सम्पर्क में आने पर बीमार नहीं पड़ते हैं। रिसर्च से साबित हुआ है कि एलो वेरा कोलेस्ट्राल कम करता है और रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करता है; इसका अर्थ हुआ कि यह मधुमेह और मोटापा कम करने में भी उपयोगी है।

एलो वेरा जूस

बाज़ार में मिलने वाले एलो वेरा जूस में उसे लम्बे समय तक ख़राब होने से बचाये रखने के लिए केमिकल मिलाये जाते हैं जिसका अधिक सेवन ठीक नहीं है। आप घर की क्यारी या गमले में एलो वेरा उगाकर ताज़ा जूस घर पर ही बनाकर पी सकते हैं।

घर पर एलो वेरा जूस बनाने का तरीक़ा

आइए जानते हैं कि आप घर पर ही एलो वेरा जूस किस प्रकार बनाया जाता है –

1. सबसे पहले एलो वेरा की गूदेदार ताज़ी पत्ती लें और उसके सिरे काट दें। फिर उसके काँटेदार किनारे भी निकाल दें।

एलो वेरा जूस बनाने के लिए पत्ती के किनारे छाँटकर निकालें2. इसके बाद बीच का गूदा निकालने के लिए पत्ती की बाहरी परत को छीलकर अलग कर दें। ध्यान रहे कि एलो वेरा के गूदे के ऊपर पीले रंग की परत होती है उसे सावधानी से हटा दें नहीं तो आपका जूस कड़वा हो जायेगा।

एलो वेरा जूस के लिए पत्ती को छीलें3. अब एलो वेरा की पत्तियों के बीच जमा गूदा सावधानी से निकालें। इसके लिए चाकू या चम्मच का प्रयोग करें।

एलो वेरा जूस के लिए बीच का गूदा निकालें4. इसके बाद इसके बाद इसे मिक्सी के जार में डालकर घोल तैयार कर लें

एलो वेरा जूस के लिए गूदे को मिक्सी में डालें5. एलो वेरा जूस का स्वाद बढ़ाने के लिए संतरे का जूस या नींबू का रस और स्वादानुसार नमक प्रयोग करें।

एलो वेरा जूस में संतरे का रस मिलाएँ6. अब एलो वेरा का घोल, संतरे का जूस, थोड़ा पानी और नमक डालकर मिक्सी से मिला लें।

ऐलो वेरा जूस में संतरे का रस मिलाएँदेखिए घर पर ही हो गया एलो वेरा जूस तैयार, खुद पीजिए और अपनों को पिलाइए और स्वस्थ रहिए।