अर्जुन के पेड़ को Terminalia Arjuna भी कहा जाता है। आम बोलचाल की भाषा में इसे कहुआ तथा सादड़ी नाम से भी पुकारते हैं। यह हिमालय की तराई, बिहार तथा मध्य प्रदेश में यह अधिक मात्रा में पाया जाता है। अर्जुन की छाल बाहर से सफेद, अन्दर से चिकनी, मोटी तथा हल्के गुलाबी रंग या लाल रंग जैसी दिखती है। यह स्वाद में कसैला और तीखा होता है।

अर्जुन का पेड़ एक औषधीय वृक्ष है। जिसकी छाल को धूप में सुखा कर इसके चूर्ण का उपयोग कई बीमारियों के इलाज में किया जाता है। आमतौर पर अर्जुन छाल का उपयोग दिल की कई बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा यह त्वचा को ख़ूबसूरत बनाने, कील मुहांसे दूर करने, दांतों का पीलापन दूर करने, सफेद बाल को काला करने, मुंह के छालों को ठीक करने, घाव भरने के काम भी आता है। इसके अलावा अर्जुन छाल की चाय बनाकर पीने से भी स्वास्थ्य लाभ मिलता है।

अर्जुन की छाल
Arjun ki chhal

अर्जुन की छाल के फ़ायदे

– अर्जुन की छाल में बादाम चूर्ण, हल्दी, कपूर को बराबर मात्रा में मिलाकर उबटन बनाएं और इसे त्वचा पर लगाएं। इससे त्वचा पर के सारे Wrinkles चले जायेंगें। त्वचा गोरी और चमकदार बनेगी।

– एक गिलास टमाटर के रस में एक चम्मच अर्जुन की छाल का चूर्ण मिलाकर नियमित सेवन करने से दिल की धड़कन सामान्य हो जाती है।

– अर्जुन की छाल का काढ़ा बनाकर सुबह सुबह पीने से रक्तपित्त दूर हो जाता है।

– मुंह के छाले हो जाने पर नारियल के तेल में अर्जुन छाल के चूर्ण को मिला कर मुंह के छालों पर लगाएं, इससे छाले ठीक हो जायेंगे।

– अर्जुन की छाल का चूर्ण गुड़ के साथ फांक लेने से बुखार चला जाता है।

अर्जुन का फल
Arjun ka phal

अर्जुन छाल के अन्य लाभ –

– अगर हड्डी टूट जाए या चोट लग जाए तब अर्जुन की छाल को पीस कर प्रभावित अंग पर लेप करके पट्टी बांध लें, इससे दर्द में आराम मिलेगा और घाव भरने लगेगा।

– सिर में नन्हीं नन्हीं फुंसियां होने पर अर्जुन छाल के काढ़े से सिर धोकर, अर्जुन की छाल का बारीक़ चूर्ण घी के साथ मिलाकर सिर पर लगाने से फुंसियों से छुटकारा मिलता है।

– अर्जुन छाल का बारीक़ चूर्ण मधु के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाने से कील मुहांसे दूर हो जाते हैं।

– अर्जुन छाल के चूर्ण को मेहंदी में मिला कर बालों में लगाएं और सफेद बाल को काला बनाएं।

– अगर दांतों पर पीलापन है तो आप अर्जुन छाल के चूर्ण से अपने दांतों की सफ़ाई करें, इससे पीलापन चला जायेगा।

आप भी अर्जुन छाल के उपयोग को अपनाएं और जीवन से कई रोगों को दूर भगाएं।