गठिया का इलाज: उम्र बढ़ाने के साथ साथ जोडों और घुटनों के दर्द की शिक़ायत हो सकती है। इसे गाउट, गाठिया या आर्थराइटिस कहते हैं। जोड़ों के दर्द की शिक़ायत के लिए यूरिक एसिड ज़िम्मेदार होता है। जब यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है तो उसके कण घुटनों और दूसरे ज्वाइंट में जमा हो जाते हैं। एक समय आता है, जब पीड़ित को असहनीय दर्द होने लगता है।

गठिया रोग में जोड़ों का दर्द अक्सर रात में होता है और सुबह अकड़न महसूस होती है। इस रोग के लक्षण दिखने पर आपको फौरन इलाज और परहेज़ शुरु कर देना चाहिए। यह आलेख जोड़ों के दर्द के आयुर्वेदिक इलाज और घरेलू उपाय से सम्बंधित है। इन तरीकों को आज़माने से आराम मिल जाएगा।

आर्थराइटिस जोड़ों का दर्द
Arthritis – Jodon ka dard

जोड़ों के दर्द का उपचार

1. दो चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी का पाउडर सुबह शाम 2 गिलास गुनगुने गरम पानी से पिएं। चलने में असमर्थ और जोड़ों के दर्द से पीड़ित रोगियों को इस उपाय से 1 महीने में आराम मिल जाएगा।

2. अश्वगंधा, शतावरी और आंवला के चूरन को अच्छे से मिलाकर सुबह सुबह पानी के साथ पी जाने से घुटनों और जोड़ों के दर्द के उपचार में बहुत लाभ मिलता है। साथ ज्वाइंट भी स्ट्रांग हो जाते हैं।

3. 15 अखरोट की गिरी को रात में भिगोकर रख दीजिए और सुबह खाली पेट खा लीजिए। इस प्रयोग को 1 महीने तक करने पर गठिया रोग में आराम मिलता है। 2 महीने के सेवन के बाद चमत्कारिक परिणाम देखने को मिलेंगे।

4. लहसुन की छिली हुई 10 कलियां पानी या दूधा के साथ पीने से ज्वाइंट पेन में रिलीफ़ मिलता है।

5. सुबह के समय योग, प्राणायाम और सूर्य नमस्कार करने से घुटनों और जोड़ों के दर्द से छुटकारा मिलता है। इसके लिए आप बाबा रामदेव के योगासन कर सकते हैं।

जोड़ों के दर्द के घरेलू नुस्खे

6. एक चम्मच मेथी दाने रात भर पानी में भीगने दें और सुबह दाने छानकर अलग कर लें। फिर इन दानों को चबा चबाकर खाएं। मेथी की तासीर गर्म होने के कारण गठिया के उपचार में फायदा मिलता है।

7. अमरूद के नए पत्ते पीसकर उसमें काला नमाक मिलाकर नियमित खाने से ज्वाइंट पेन में काफी राहत मिलती है।

8. गठिया के रोगी को अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। इससे पेशाब ज़्यादा होगी और यूरिक एसिड बाहर निकल जाएगा।

9. ऑरेंज जूस में 115 ग्राम कॉड लीवर ऑयल मिलाकर सोने से पहले पी लेने से गठिया रोग में आराम मिलता है।

10. एक चम्मच सरसों के तेल में लहसुन की 4 कलियां पीसकर भून लीजिए। तेल अच्छे से पक जाए तो जोड़ों की जम कर मालिश करें।

जोड़ों के दर्द का आयुर्वेदिक उपचार

11. नियमित नारियल गिरि खाने से जोड़ों को ताक़त मिलती है।

12. काली मिर्च को तिल के तेल में जलने तक गरम करें, उसके बाद ठंडा होने पर उस तेल को मांसपेशियों पर लगाएं। इससे गाउट के दर्द में आराम मिल जाएगा।

13. हर तीसरे दिन बिना चाय कॉफ़ी पिए खाली पेट 10 ग्राम अरंडी का तेल पिएं। साथ साथ गाजर पीसकर उसके ऊपर से नींबू का रस मिलाकर रोज़ पिएं। इससे ज्वाइंट्स के लिगामेंट्स को मजबूत कर दर्द से राहत दिलाता है।

14. जैतून के तेल से जोड़ों की मालिश करने गाउट और आर्थराइटिस में काफ़ी आराम मिलता है।

15. रोज़ 1 चम्मच सोंठ का पाउडर खाने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।

गठिया के घरेलू उपाय

16. ज्वाइंट पेन 10 ग्राम अदरक दिन में 2 बार लेने से घुटने के दर्द का इलाज किया जा सकता है।

17. गठिया के इलाज में जामुन बहुत लाभकारी होता है। जामुन की छाल पानी में उबालकर लेप तैयार कर लीजिए। इसकी मालिश से गठिया में आराम मिलता है।

18. आर्थराइटिस, गाउट या जोड़ों के दर्द में गेहूँ के दाने के बार पान वाला चूना रोज़ाना सुबह खाली पेट एक कप दही में, दाल में या पानी में मिलाकर 3 महीने तक लगातार सेवन करने से आर्थराइटिस ठीक हो जाता है। पथरी की शिकायत होने पर इस उपाय को न करें।

19. हर रोज़ बथुआ के पत्तों का रस पीने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है। इस जूस को पीने के 2 घंटे तक कुछ न खाएं।

जोड़ों के दर्द का उपचार करने के लिए उपरोक्त उपाय करने के साथ-साथ हल्का व्यायाम और एक्सरसाइज़ करने से भी फ़ायदा मिलेगा। योग में बड़ी शक्ति होती है। उपाय के साथ डॉक्टरी सलाह क पालन करने से जल्दी आराम मिल जाता है।

Keywords – Jodon Ke Dard Ka Ilaj, Joint Pain Treatment in Hindi, Arthritis Pain Treatment, Ghutne Ke Dard Ka Ilaaj, Jodon Ke Dard Ka Upchar