सुस्ती आना, हर समय आलस लगना, चेहरे पर कील मुहांसे निकलना, बाल गिरना, पेट के रोग लगना, अपच होना और इंफ़ेक्शन की चपेट में जल्दी आ जाना। अगर इनमें से कोई एक या अधिक लक्षण आपमें हैं तो आपको डी-टॉक्सिफ़ाइ होने की ज़रूरत है। शरीर को कमज़ोर बनाने वाले पदार्थों को बाहर निकालने की प्रक्रिया को डी-टॉक्सिफ़िकेशन कहते हैं। इस आलेख शरीर की गंदगी बाहर निकालकर उसे डी-टॉक्सिफ़ाइ करने के बारे में है।

शरीर की गंदगी बाहर निकालना
Body detoxification tips

शरीर की गंदगी बाहर निकालने के फ़ायदे

– शरीर हानिकारक रसायनों से मुक्त होता है।
– वज़न नियंत्रित करने में हेल्प मिलती है।
– ख़ून साफ़ होता है, जिससे कील मुहांसे और फोड़े फुंसी नहीं निकलते हैं।
– शरीर ऊर्जावान और शक्तिशाली बनता है।
– शरीर स्वस्थ, स्फूर्ति से भरपूर और ऊर्जावान बनता है।
– बालों की झड़ने की समस्या कम होती है।
– बुढ़ापा नहीं झलकता है।

बॉडी को डी-टॉक्सिफ़ाई करने के आयुर्वेदिक उपाय

– सुबह नींबू डालकर गरम पानी पीना चाहिए और दिन में 3 बार ग्रीन टी पीनी चाहिए। ग्रीन टी के एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर का मेटाबॉलिक रेट बढ़ाते हैं, जिससे वज़न नहीं बढ़ता है।
– रोज़ रात को थोड़ा सा खड़ा धनिया, काली मिर्च, जीरा, बड़ी इलायची को एक चौथाई गिलास पानी में भिगोकर रखें, और सुबह इसे उबालें। फिर इसे छानकर पी जाएँ।
– दालचीनी को थोड़े पानी भिगोकर रखें और सुबह ज़रा सी अदरक के साथ इस पानी को पिएँ। इससे मेटाबॉलिज़्म बढ़ता है, जिससे पेट की चर्बी घटती है।

किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीज़ इन उपायों को करने से पहले आयुर्वेदिक वैद्य या डाक्टर से सलाह अवश्य लें।

शरीर की गंदगी निकालने के लिए खाद्य

आज की जनेरेशन जंक फ़ूड बहुत पसंद करती है, पर क्या आप जानते हैं कि ये सब आपके शरीर को नुक़सान करता है। शरीर जंक फ़ूड से होने वाले नुक़सान न झेले इसके लिए ज़रूरी है कि आप शरीर के अंदर जमा अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकाल दें। इसके लिए आप अग्रलिखित खाद्य पदार्थों का सेवन करें।

1. लहसुन

लहसुन के एंटीबॉयोटिक और एंटी बैक्टीरियल गुण बॉडी से सारे टॉक्सिन पदार्थ बाहर निकाल देते हैं। भोजन में लहसुन का प्रयोग अवश्य करना चाहिए।

2. खीरा

खीरे में मिनिरल्स युक्त पानी टॉक्सिंस को बाहर निकलता है, और साथ में इसमें मौजूद फ़ाइबर आपके पेट की सफ़ाई कर देते हैं।

3. ग्रीन टी

इसके प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट्स लीवर को रोगों से बचाते हैं। दिन में 3 कप ग्रीन टी पीकर आप मेटाब्लिज़्म रेट बढ़ा सकते हैं, जिससे आपको वज़न कम करने में मदद मिलेगी।

4. हरा धनिया

हरा धनिया एंटी सेप्टिक और एंटीफ़ंगल गुणों से युक्त होता है, जिससे लीवर साफ़ करने वाले एंजाइम सामान्य रूप से बनते रहते हैं। आप इसकी पत्तियाँ कच्ची भी खा सकते हैं या खाने में डाल सकते हैं।

5. अदरक

अदरक रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ पाचन तंत्र को भी शक्ति देती है।

6. अखरोट

इसमें पाया जाने वाला ओमेगा-3 फ़ैटी एसिड हृदय को स्वस्थ रखने के साथ उसे डी-टॉक्सिफ़ाई भी करता है। अखरोट मैग्नीशियम, कॉपर और बॉयोटीन का स्रोत है, जो प्रोस्टेट कैंसर को रोकता है। साथ ही शरीर को फ्री रेडिकल्स से मुक्त करता है, जिससे आप बढ़ती उम्र के साथ जवां नज़र आते हैं।

7. नींबू

इसमें मौजूद वाइटमिन सी फ्री रेडिकल्स को ख़त्म करता है। गुनगुने पानी में नींबू निचोड़क्र पीने से शरीर के टॉक्सिन बाहर निकल जाते हैं, जिससे pH स्तर सामान्य बना रहता है। साथ ही यह इम्यून सिस्टम को शक्तिशाली बनाता है।

8. ताज़े फल

फल फ़ाइबर, वाइटमिन और न्यूट्रिएंट से भरपूर होते हैं, जो त्वचा और बालों को पोषित करते हैं। इनसे पाचन भी ठीक रहता है।

9. चुकंदर

इसमें आयरन, मैग्नीशियम और वाइटमिन सी अधिक होता है, जो कोलेस्ट्रोल कंट्रोल करता है। लीवर के टॉक्सिन को भी बाहर कर देता है। ख़ून की कमी होने पर चुकंदर बहुत फ़ायदेमंद रहता है।

10. गेहूँ की घास का रस

गेहूँ के ज्वारे में सभी पोषक तत्व होते हैं। इसलिए शरीर की गंदगी बाहर निकालने के लिए आपको रोज़ व्हीटग्रास जूस पीना चाहिए।

Detox vegetables
Detox vegetables

शरीर में टॉक्सिन रोकने के उपाय

1. चीनी कम खाएँ

चीनी शरीर में टॉक्सिन के लिए काफ़ी ज़िम्मेदार है, इसलिए चीनी और इससे बनने वाले खाद्यों का कम से कम सेवन कीजिए।

2. हल्का खाना खाएँ

पुरानी कहावत है, कम खाओ गम खाओ। इसलिए रात में सोने से पहले हल्का भोजन करना चाहिए। स्मोकिंग और शराब के सेवन से पूरी तरह बचना चाहिए।

3. बॉडी मसाज

सप्ताह में एक बार अच्छे से बॉडी मसाज करवाना चाहिए। इससे रक्त संचार सही रहता है, और शरीर की गंदगी बाहर निकल जाती है।

4. पानी अधिक पिएँ

अधिक पानी पीने से शरीर की गंदगी पेशाब और पसीने से बाहर निकल जाती है। इसलिए 4 लीटर पानी रोज़ पिएँ।

5. योगाभ्यास करें

योग से अपना दिन शुरु करना शुभ होता है। आप प्राणायाम, अनुलोम-विलोम आदि कर सकते हैं। साइकलिंग, जॉगिंग आदि व्यायाम भी कारगर हैं।

6. नाक साफ़ रखें

प्रदूषण बढ़ने के कारण सांस द्वारा बहुत से टॉक्सिन हमारे शरीर में पहुंच रहे हैं, जिससे अनेक बीमारियाँ हो रही हैं। इस समस्या से बचने के लिए अपनी नाक की नियमित सफ़ाई करें। साथ ही धूल, मिट्टी और प्रदूषण वाली जगहों पर मास्क या रुमाल का प्रयोग करें।

7. ठीक से सोएँ

सुस्ती और आलस से बचने के लिए शरीर को पूरा आराम देना चाहिए। आठ घंटों की नींद पूरी करके हम ऐसा कर सकते हैं।

ज़रूरी हेल्थ टिप्स

– रेशेदार भोजन खाएँ। आहार में सब्ज़ियों और फलों को स्थान दें।
– पसीना निकालने के लिए शारीरिक श्रम करें।
– सुबह सुबह गहरी सांस लें, जिससे खून में ऑक्सीजन पहुंचे और रक्त संचार सुधरे।
– ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए।
– खाना चबा चबाकर और धीमे धीमे बिना बात किए खाना चाहिए।
– रोज़ 4 लीटर तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
– निश्चित मात्रा में वाइटमिन सी का सेवन करना चाहिए।
– व्यायाम करने में कोताही नहीं करनी चाहिए।

अपनी बॉडी को तरो-ताज़ा और एनर्जेटिक बनाए रखने, शरीर की गंदगी बाहर निकालने, खून साफ़ करने और बॉडी को डी-टॉक्सिफ़ाइ करने के लिए उपरोक्त उपाय बहुत लाभकारी हैं।