वर्ल्ड हेल्थ डे पर दुनिया भर में गिरते हेल्थ इंडेक्स पर चिंता ज़ाहिर की गई। लोगों को स्वस्थ जीवन जीने और फ़िटनेस लेवल बढ़ाने के लिए प्रेरित किया गया। आप अपने फ़िटनेस को कल पर टाल रहे हैं, तो यह अच्छी बात नहीं है। हो सकता है कि आप बीमारियों के चंगुल में फंस जाएं। आप फ़िट रहने के लिए कोई भी फ़ंडा अपना सकते हैं। साइकलिंग भी अच्छी आदत है। यह याद रखें कि एक्सपर्ट आपको बेस्ट सलाह ही देते हैं। इसके लिए जो कुछ करना है, सिर्फ़ और सिर्फ़ आपको ही करना है। तो फिर तैयार हो जाइए।

देश और दुनिया में हेल्थ पर कई तरह के रिसर्च हो रहे हैं। इंटरमाउंटेन मेडिकल सेंटर हर्ट इंस्टीट्यूट और जॉन हॉपकिंस हॉस्पिटल ने अपने हालिया स्टडी में इस बात की पुष्टि की है कि हृदय रोग के लिए बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की तुलना में कमर का बढ़ता साइज़ मुख्य कारक है। दोनों जगहों पर रिसर्च में इस निष्कर्ष पर पहुंचा गया है कि पेट पर मोटापा या ऐप्पल के आकार की बॉडी वाले लोगों में गंभीर ह्दय रोग के चांस ज़्यादा होते हैं।

इसके साथ ही जो लोग टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज़ बीमारी का सामना कर रहे हैं, उनके लिए यह स्थिति बड़े ख़तरे की ओर इशारा करती है।

फ़िटनेस लेवल - Boost your fitness level

एक्सपर्ट बताते हैं कि ऐप्पल शेप बॉडी का मतलब है कि आप उपापचय (मेटाबोलिक) सिंड्रोम से पीडि़त हैं और आप बेहद आसानी से हाई ब्लड प्रेशर, शूगर और कोलेस्ट्रॉल के शिकार बन सकते हैं। इन तीनों बीमारियों का मतलब है कि आपकी ज़िंदगी की मुस्कान गायब होने वाली है। रिसर्च में यह भी कहा गया है कि शूगर के रोगियों को आसानी से दिल की बीमारी हो सकती है। इसके अलावा कमर और पेट के बढ़ते आकार के कारण आप बाएं निलय में शिथिलता (लेफ़्ट वेंट्रिकुलर डिस्फ़ंक्शन) के भी शिकार हो सकते हैं। दरअसल, ऐसे किसी भी रिसर्च का मक़सद आपको डराना नहीं, जागरूक करना है। कई एक रिसर्च में इस बात का भी ज़िक्र हुआ है कि आप फ़िटनेस लेवल को हाई रखकर इन बीमारियों से बचे रह सकते हैं। आज की ज़िंदगी में लोगों के पास वक़्त की कमी है और ऐसे में वे ही फ़िट हैं, जो हेल्दी रहने के लिए टाइम निकालते हैं। वीक में कम से कम 4 दिन एक घंटे की फिजिकल एक्सरसाइज़ ज़रूरी है। ऐसे में यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप अपनी लाइफ़ में किन हैबिट्स को एंट्री दे रहे हैं और किनसे छुटकारा पाना चाहते हैं। स्वस्थ जीवन जीने का तरीक़ा बहुत कठिन नहीं होता है। मसलन, अगर आपने वॉकिंग, जॉगिंग, एक्सरसाइज़, योग, जिम और स्वीमिंग जैसे विकल्प को चुना है, तो इसके लिए निरंतरता की ज़रूरत होती है। यहां पर आपको अपने वर्क और हेल्थ में बैलेंस बनाकर चलना होता है। एक्सपर्ट कहते हैं कि रेगुलर मॉर्निंग और इवनिंग वॉक से आपको अच्छी नींद आती है और आपका खाना अच्छे पच जाता है। हर रोज़ इसे हैबिट में लाने से आप अच्छे हेल्थ की ओर बढ़ते हैं। इन सामान्य तरीक़ों के आलावा आप कुछ रोचक तरीक़ों को भी अपना सकते हैं।

फ़िटनेस लेवल में इज़ाफ़ा करने के टिप्स

1. डैंसिंग

हममे से अधिकांश लोग डैंस और म्यूज़िक को पसंद करते हैं। सिर्फ़ एक जगह पर स्थिर होकर संगीत सुनने से ज़्यादा बेहतर है कि आप खड़े हो जाएं और म्यूज़िक के साथ-साथ डैंस करें। ऐसा आप अपने फ़ैमिली मेंबर्स के साथ भी कर सकते हैं। डैंस करने से शरीर में लचीलापन आता है और मांसपेशियों को मज़बूती मिलती है। ऐसा करना न केवल आपके शरीर के फ़िटनेस लेवल को बढ़ाता है, बल्कि आप अपने फ़ैमिली के साथ क्वालिटी टाइम भी स्पेंड कर पाते हैं।

Dancing girl

2. धुले कपड़ों की बास्केट से एक्सरसाइज़

धुले कपड़ों से भरी बास्केट बाज़ुओं के लिए अच्छी एक्सरसाइज़ है। बास्केट को ऊपर से पकड़ उठाएं, फिर जमीन पर रख दें। ऐसा 10 मिनट तक करें। अगर यह ज़्यादा भारी है, तो कुछ कपड़ों को निकाल लें। यह एक्सरसाइज़ आपके कंधों, अपर आर्म्स और अपर बैक मसल्स के लिए फ़ायदेमंद होती है।

3. रोलिंग चेयर

आप वर्कप्लेस पर भी कई तरह के एक्सरसाइज़ को आसानी से कर सकते हैं। आप पहिये लगे कुर्सी पर बैठ जाएं। अपने डेस्क के दोनों कोनों को अच्छे से पकड़ लें। अपने हाथ की मांसपेशियों का इस्तेमाल ख़ुद को डेस्क के क़रीब खींचने के लिए करें। इसके बाद ख़ुद को पीछे की ओर ढकेलें। इससे आपकी बाइसेप्स स्ट्रॉग होगी और मांसपेशियों में खिंचाव में मदद मिलेगी। घर पर इसे आप आसानी से कर सकते हैं। आप एक प्रोफ़ेशनल के तौर पर काम करते हैं, तो आपके पास ज़्यादा टाइम नहीं होता है। ऐसे में आप इन यूनिक फ़ॉर्म्यूले को अपनाकर फ़िटनेस लेवल में इज़ाफ़ा कर सकते हैं। आप अपने लाइफ़ स्टाइल में थोड़े से बदलाव से हेल्थ में बड़ा बदलाव ला सकते हैं। इससे आपका कॉन्फिडेंस डिवेलप होगा। इसलिए आप एक्सट्रा अफ़र्ट से स्वस्थ जीवन की ओर क़दम बढ़ाएं। आप कई दिनों से ऐसा करने की सोच रहे हैं और आप इसकी शुरुआत नहीं कर सकते हैं, तो वर्ल्ड हेल्थ डे पर आप अपने लिए एक नेक कोशिश करें और अपनी लाइफ़ से स्ट्रेस, मोटापे और बीमारियों को दूर भगाने की दिशा में क़दम बढ़ाएं।

4. सीढ़ियां चढ़ना

आप सीढ़ियों पर आसानी से एरोबिक्स कर सकते हैं। सीढ़ी चढ़ना एक शानदार क़सरत है। इसकी शुरुआत करने से पहले आप बॉडी को वॉर्मअप कर लें। इसके बाद एक सीढ़ी पर पैर रखें और उसे नीचे लाएं। 15 बार इसे करें। थोड़े आराम के बाद दोबारा से 15 बार करें। धीरे-धीरे इसकी संख्या में इज़ाफ़ा करें।

Women walking down stairs

5. ख़ुद में लाएं सुधार

कुछ आदतें ऐसी होती है, जिन्हें छोड़ देने से शरीर के फ़िटनेस लेवल को बढ़ाया जा सकता है। जैसे कि आप स्वचालित सीढ़ियों का इस्तेमाल न करें। आप हमेशा सीढ़ी चढ़ने के विकल्प को चुनें। जब आप किसी से फ़ोन पर बात कर रहे हैं, तो वॉक करते हुए भी बात कर सकते हैं। अपने डेस्क से चाय, स्नेक्स का ऑर्डर करना छोड़ दें। वर्कप्लेस पर लंच के बाद तुरंत अपनी सीट पर न बैठें। इसके अलावा फ़ैमिली के साथ टीवी देखते समय स्नैक्स, लंच और डिनर न करें। इसके अलावा डिनर टाइम से लें और डिनर के तुरंत बाद सोने न जाएं। लाइट वॉकिंग करें। इससे आप अपने खाने पर कंट्रोल नहीं रख पाते हैं। प्रज़ेंटेशन देने के समय आप हमेशा खड़े होकर प्रज़ेंटेशन दें। स्मार्ट फोन पर गेम्स के ख़जाने मौजूद हैं, जिनकी आदत पड़ने से आपके आंख और फ़िजिकल एक्टिविटी दोनों ही प्रभावित होती है। इसलिए इस आदत को अपने ऊपर हावी न होने दें। अपने फ़ैमिली मेंबर्स के साथ शाम की वॉकिंग पर निकलें और हो सके तो बच्चों के साथ खेलें। इससे आप भी फ़िट रहेंगे और बच्चे भी।

Keywords – फ़िटनेस लेवल, स्वास्थ्य स्तर, बेहतर स्वास्थ्य, fitness level, better lifestyle, importance of exercise