दाढ़ और दांत दर्द कभी कभी बहुत असहनीय हो जाता है। ऐसा दाढ़ में कुछ फंसने, कीड़ा लगने या दांत की सड़न से हो सकता है।

कई बार कुछ उलटा सीधा खाने, दांतों की सफ़ाई न करने या दाढ़ में कीड़े लगने से दांतों में दर्द हो सकता है। दांत दर्द किसी भी कारण से हो लेकिन यह कष्टकारी होता है। दांत और दाढ़ दर्द में न कुछ खाते बनता है और न पीते, बस सारा ध्यान उसी पर लगा रहता है। दांत दर्द का इलाज करने के लिए इस लेख बताये जा रहे घरेलू उपाय बहुत कारगर हैं।

दांत दर्द

दांतों का ख़याल रखना

– ज़्यादा गर्म खाना खाने के बाद फ़ौरन ठंडा पानी न पिएं, आइसक्रीम या कुछ और ठंडा खाएं। इसी प्रकार ज़्यादा ठंडी वस्तु खाने के बाद कुछ गर्म न ही खाएं और न पिएं। ठंडा गर्म करने से दांत कमज़ोर हो जाते हैं।

– दांत और दाढ़ों पर मुलायम ब्रश करना चाहिए। ब्रश ज़्यादा दबाकर दांत नहीं रगड़ने चाहिए। अगर आप उंगली से मंजन करते हैं तो तर्जनी उंगली से दांत साफ़ न करें बल्कि मध्यमा उंगली का प्रयोग करें।

– कुछ भी खाने के बाद कुल्ला अच्छी तरह से करें।

– रात सोने से पहले अच्छी तरह से कुल्ला करके मुँह साफ़ करें। फिर दांतों पर ब्रश करें।

– माउथवाश कई बार सांसों की बदबू की समस्या बन जाते हैं। इसकी बजाय आप पानी में पिपरमिंट ऑयल डालकर कुल्ला कर सकते हैं।

– कोल्ड ड्रिंक, चॉकलेट और टॉफ़ी खाने से भी दांतों को हानि पहुंचती है।

दांत दर्द का इलाज

१. जामफल के पत्तों को चबा चबाकर मुँह में उसका रस दांतों के बीच से भेजें। फिर उसे थूक दें। फिर उबली हुई जामफल की छाल से कुल्ला करें। यह हर तरह से दांत दर्द का इलाज है।

२. तिल के तेल में पिसा नमक मिलाकर दांत मांजने से दांद दर्द की समस्या धीरे धीरे ख़त्म हो जाती है।

३. लौंग में दांतों के बुरे बैक्टीरिया को ख़त्म करने की शक्ति होती है। जहाँ दांत में दर्द हो वहाँ पर लौंग तेल में डूबा फीहा रखने से आराम मिलता है। यह दर्द मिटाने में समय लेता है, इसलिए धैर्य न खोयें।

४. जामुन के पेड़ की छाल का काढ़ा बनायें। इससे कुल्ला करने से मसूढ़ों की सूजन कम होती है और दांत पर मसूढ़े कस जाते हैं।

दाढ़ दर्द

५. पानी में अमरूद के पत्तों को इतना उबालें कि सूखता हुआ पानी दूध जैसा गाढ़ा हो जाए। इस काढ़े से कुल्ला करने से दांत दर्द में जल्द आराम होता है।

६. दांत में चोट लग जाए या दांत टूट जाने पर ख़ून बहना रोकने के लिए नमक के पानी से कुल्ला करें। फिर कत्थे और हल्दी का पाउडर लगाने से ख़ून रिसना बंद हो जाएगा।

७. लहसुन में कुछ ऐसे गुण हैं जो दांत के हानिकारक बैक्टीरिया, कीटाणु और जीवाणु को नष्ट कर सकते हैं। एक कली लहसुन को लहौरी नमक के साथ पीसकर दांत दर्द वाली जगह पर लगाने से दर्द निकल जाता है।

८. 10 -10 ग्राम बायविदंग और सफेद फिटकरी कूटकर 3 लीटर पानी में उबाल लें। जब पानी एक तिहाई रह जाए, इसे छानकर कांच की बोतल में रख लें। तेज़ दांत दर्द हो तो इस पानी से कुल्ला करें। दो दिन में आराम मिल जायेगा। कुछ दिन नियमित कुल्ला करने से दांत मजबूत हो जाते हैं।

दांत के कीड़े नष्ट करना

दांत में कीड़ा लगने पर प्याज की एक फांक प्रभावित जगह में 10 मिनट तक दिन में कई बार दबायें। इससे दांत का कीड़ा ख़त्म हो जाएगा। आप प्याज के रस से कुल्ला भी कर सकते हैं।

पायरिया का इलाज बाबा रामदेव का उपाय

पायरिया होने पर तुरंत प्रभावी उपाय करना चाहिए। एक दांत से पूरे जबड़े में इंफ़ेक्शन फैलता है। पायरिया के इलाज में बाबा रामदेव प्याज को उत्तम औषधि मानते हैं। प्याज की एक फांक को तवे पर गर्म करके 10 मिनट के लिए दांतों के बीच दबाकर रखनी है। इस दौरान बनने वाली लार को मुँह के अंदर चारों ओर घुमायें। इस उपाय को 10 दिन तक नियमित दिन में 3 बार करने से पायरिया जड़ से समाप्त हो जाएगा। मसूढ़े मजबूत होंगे और दांत के कीड़े नष्ट हो जायेंगे।

loading...