आज युवा वर्ग में भी कई वजहों से डिप्रेशन की समस्या सामने आने लगी है।  हम पिछले लेख में चर्चा कर चुके हैं कि अवसाद या डिप्रेशन क्या है और इसके कारण क्या है? वैज्ञानिक और विशेषज्ञों ने डिप्रेशन के लक्षण भी बतायें जिन पर हम आगे चर्चा करेंगे जिससे आप डिप्रेशन के मरीज़ को आसानी से पहचान सकें और उसके साथ आत्मीयता का बर्ताव करें और उसे अपने इलाज और आदतों में सुधार के लिए पॉजीटिवली मोटीवेट करें।

डिप्रेशन के लक्षण

डिप्रेशन के लक्षण

१. उदासी भरा मूड या मिज़ाज

यदि किसी को उदास रहने की आदत-सी हो जाये और उसका मन किसी काम को करने में न लगे, किसी बात से उसे ख़ुशी न हो, किसी चीज़ से उसे ख़ुशी न हो और जब बात यहाँ तक आ जाये कि उसे अपने ग़म का एहसास भी न रहे तो यह स्थिति अवसाद बन जाती है।

२. नकारात्मक सोच और विचार

जब किसी व्यक्ति के मन में कुछ बुरा होने की आशंका हमेशा बनी रहे और उसका मन हमेशा नकारात्मक ही सोचे तो यह भी डिप्रेशन के लक्षण में से एक है।

३. सोने-जगने के समय में बदलाव

जब किसी व्यक्ति को बार-बार नाइटमेयर यानि बुरे सपने आने लगें और उसे नींद न आये तथा इसके उल्टी स्थिति में वह व्यक्ति ज़रूरत से ज़्यादा सोने लगे और उसे सर दर्द और थकावट की समस्या महसूस हो, साथ ही ऐसी स्थिति कई हफ़्तों तक बनी रहे तो यह भी डिप्रेशन की तरफ़ इशारा करती है।

डिप्रेशन के लक्षण और उपचार

डिप्रेशन से बचने के उपाय

१. अध्यात्म और योग का अभ्यास करें ताकि मन मस्तिष्क में सकारात्मकता का प्रसार और प्रवास हो
२. सोने का समय निश्चित करें और ८ घंटों की पूरी नींद लें
३. ताज़ा और स्वास्थ्य वर्धक खाना समय पर खायें
४. तनाव की स्थिति में मन बहलाने और ख़ुद को ख़ुश रखने की कोशिश करें
५. अपनी इच्छाओं और महत्वाकांक्षाओं को अपनी क्षमता से जोड़कर देखने की कोशिश करें और आत्मविश्वास बनाये रखें। साथ ही प्रेरणादायक प्रसंग पढ़ें।
६. परिवार जनों के क़रीब रहें और उनसे अपने दिल की बात शेअर करें
७. अपनी पसंद का कार्य करें और ख़ुद को व्यस्त रखने का प्रयास करें

आशा है यह पोस्ट आपके और आपके अपनों के लिए काम की साबित होगी।

Tags – Depression Kya Hai, What is Depression, Depression Se Bachne Ke Upay, Depression Cure, Depression Symptoms