ऐसी मान्यता है कि ठंड और सर्द तेज हवाओं से बचने के लिए शराब का सेवन लाभप्रद हो सकता है। जबकि डॉक्टरों का कहना है कि शरीर को गर्म रखने के लिए लोगों को शराब का सहारा नहीं लेना चाहिए। इससे बेहतर है कि वे खानपान पर विशेष ध्यान रखें। डॉक्टरों का मानना है कि ठंड हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों और दिल की बीमारी से ग्रस्त मरीजों के लिए परेशानी का कारण बन सकती है, ऐसे लोगों को वसायुक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए।

शराब का सेवन

सर्दियों में शराब का सेवन वाले इन बातों को जानें –

नमक का स्तर बढ़ जाता है

ठंड की वज़ह से पसीना नहीं निकलता है और शरीर में नमक का स्तर बढ़ जाता है, जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। इसके अलावा सर्दी में ज़्यादा काम न करने से शारीरिक गतिविधियाँ कम हो जाती हैं। इससे ब्रेन स्ट्रोक का ख़तरा बढ़ जाता है।

शूगर बढ़ सकती है

डॉक्टरों का कहना है कि कई लोग इस मौसम में ठंड से बचने के लिए शराब का सेवन करते हैं लेकिन इससे उनकी ठंड तो कम हो जाएगी लेकिन इससे उनका ब्लड प्रेशर और ख़ून में शूगर की मात्रा अचानक बढ़ जाएगी, जो उनके स्वास्थ्य के लिए बहुत ख़तरनाक है।

“लोगों के मन में ग़लतफ़हमी है कि सर्दी के दिनों में व्हिस्की या रम के दो पैग गुनगुने पानी से लेने से सर्दी भाग जाएगी। ऐसा करने से आप को तुरंत तो गर्मी का एहसास हो जाएगा लेकिन आप को रक्तचाप और ब्लड शुगर बढ़ने के चलते अस्पताल में भर्ती होना पड़ सकता है।” – प्रोफेसर सुदीप कुमार, कॉर्डियोलॉजिस्ट, पीजीआई

ख़ूब एक्सरसाइज़ करें

इस मौसम में ठंड के कारण ख़ून की धमनियों में सिकुड़न की वज़ह से ख़ून का थक्का जमने की आशंका बढ़ जाती है। ऐसे में इस तरह के रोगियों को सर्दी के मौसम में पराठे, पूरी और अधिक तेल वाले खाद्य पदार्थों को खाने से बचना चाहिए। शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बनाए रखने के ख़ूब एक्सरसाइज़ करनी चाहिए। इस मौसम में दिल के मरीज सुबह की वॉक से बचें और हो सके तो शाम को वाक करें। कम से कम इतना ज़रूर करें कि आपके शरीर से पसीना निकले।

इन बातों का रखें ध्यान

  1. नियमित रूप से कम से कम दो घंटे तक व्यायाम करना चाहिए
  2. सुबह टहलने से अच्छा होता है शाम को धूप में टहलना
  3. शरीर के वज़न को नियंत्रित रखना चाहिए
  4. शाकाहारी भोजन का सेवन करना चाहिए, जैसे- हरी सब्जियाँ और सलाद।
  5. सर्दी में गर्म कपड़ा पहनना चाहिए ताकि ब्लड प्रेशर कम न हो।