जुखाम, बुखार और खाँसी, ये तीनों ही शरीर को बेहद परेशान करते हैं इनमें सबसे ज़्यादा खाँसी परेशान करती है। खाँसी होने पर बलगम के कारण गला दुखने लगता है और कभी कभी साँस लेने में तकलीफ़ होने लगती है। सूखी खाँसी हो या गीली खाँसी , खाँस खाँस के गला दर्द होने लगता है और दर्द के कारण स्वाभाव चिड़चिड़ा होने लगता है। ठंड, फ़्लू, एलर्जी या अस्थमा के कारण होने वाली खाँसी शरीर को और भी कष्ट पहुंचा सकती है। अगर आप भी खाँसी को झेलते-झेलते परेशान हो गये हैं तो, तुरंत राहत पाने के लिए दादी माँ के नुस्खों को अपनाएं और ड्राई कफ से छुटकारा पाएं।

सूखी खाँसी का देशी उपचार

सूखी खाँसी के घरेलू इलाज

1. हाइड्रेटेड बने रहें

आपको जब भी सूखी खाँसी हो जाए तो हाइड्रेट बने रहें इससे सूखी खाँसी से जल्दी छुटकारा मिलता है और आप जल्दी ठीक हो जाते हैं। अतः हर घंटे पर एक गिलास पानी पियें और पानी के साथ बीच-बीच में चाय, जूस तथा दूध आदि लेने से भी आपको गले और खाँसी दोनों में राहत मिलती है।

2. जलन पैदा करने वाली चीज़ों का उपयोग करने से बचें

ड्राई कफ होने पर हवा में जो चीज़ें साँस लेने में तकलीफ़ पैदा करें उन चीज़ों का जैसे सिगरेट के धूम्र, परफ़्यूम, क्लीनिंग स्प्रे, पेन्ट, रसायनिक धूम्र उपयोग करने से बचें और आप स्वच्छ और हानिरहित हवा में साँस लें।

3. कफ ड्राप्स लें

सूखी खाँसी होने पर गले को नमी प्रदान करने के लिए कैंडी चूसें ताकि आपके गले में नमी बनी रहे इसके अलावा कफ ड्राप्स भी गले को राहत प्रदान करता है। कैंडी चूसने से आपके मुंह में ज़्यादा लार बनती हैं और आपका गला गीला बना रहता है।

4. अपने सिर को ऊंचा करके रखें

अगर आपको सूखी खाँसी परशान करें तो ड्राई कफ के समय अपने सिर को ऊँचा रखें ताकि आपको खाँसने मे आसानी हो और श्वसन मे सहायता मिल सकें।

5. भाप द्वारा अपने बलगम को बाहर निकालें

सूखी खाँसी होने पर बलगम को बाहर निकालने के लिए हाट-शावर लें या उबलते हुए पानी में यूकेलिप्टस आयल की कुछ बूंदें मिला लें। इसके अलावा आप चाहें तो किसी बर्तन में उबलता हुआ पानी लें और तौलिये से सिर को ढंकते हुए उसके ऊपर अपना चेहरा इस प्रकार रखें कि आप अधिक से अधिक भाप, श्वसन के द्वारा अन्दर ले सकें।

6. लौंग का सिरप बनायें

सूखी खाँसी होने पर गला सबसे ज़्यादा दुखता है। अतः दुखते गले को राहत प्रदान करने के लिये लौंग का उपयोग करें क्योंकि यह एक उत्तम प्राकृतिक औषधि है। भुनी हुई लौंग के चूर्ण में शहद मिलाकर चाटने से गले को राहत मिलती है। इसके अलावा एक कप शहद में 5-6 लौंग मिलाकर मिश्रण को रातभर के लिए छोड़ दें। 12-24 घंटों के पश्चात सिरप को चम्मच की सहायता से हिलायें और उसमें से लौंग को बाहर निकाल दें। अब जब भी ड्राई कफ हो तब एक बड़ा चम्मच सिरप पीने से आराम मिलती है।

7. विक्स वेपुरब का उपयोग करें

विक्स वेपुरब को सीने और गले पर लगाने से या सूंघने से खाँसी तथा दुखते गले को राहत मिलती है। इसे लगाने से सूखी खाँसी में राहत के साथ-साथ लेटना और सोना भी आसान हो जाता है।

8. स्लिपरी-एल्म लें

स्लिपरी-एल्म एक ऐसा पौधा है जो ना केवल ड्राई कफ की मियाद को कम करता है बल्कि गले की खराश को भी ठीक करता है।

9. अदरक ज़्यादा खायें

अदरक एक ऐसी औषधि है जो सूखी और गीली, दोनो तरह की खाँसी के लिये कारगर उपाय है। कच्ची अदरक खायें या फिर उसके छोटे-छोटे टुकड़े एक कप खौलते पानी मे डालकर चाय बनायें। अदरक के सेवन से सूखी खाँसी में काफी राहत मिलती है।

10. सेब का सिरका पियें

अगर आपको सूखी खाँसी बेहद परेशान करें तो सेब का सिरका आजमाएं क्योंकि यह आराम पहुंचा सकता है। इसके लिए एक कप पानी में एक बड़ा चम्मच सिरका मिलायें और दिनभर में कई बार पीने से ज़बरदस्त असर दिखाई देगा।

दादी माँ के नुस्खों को अपनाएं और सूखी खाँसी को कहें बॉय बॉय।

Keywords – Dry cough home remedies, Sookhi khansi ka upchar, Sukhi khansi ka ilaaj