गर्दन की नसों पर खिंचाव पड़ने से गर्दन का दर्द हो सकता है। इसके अलावा सर्वाइकल के मनके हिल जाने या फिर नस दब जाने के कारण भी नेक पेन हो सकता है। गर्दन का दर्द किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। उठने, बैठने, लेटने और सोने की गलत आदतों के कारण गर्दन, कमर और कंधों में दर्द होने की शिकायत हो जाती है। गर्दन का दर्द होने पर इसे अनदेखा न करें, तुरंत उपचार करें। दर्द बढ़ने पर डॉक्टर के इलाज की ज़रूरत पड़ सकती है। इस लेख में आप गर्दन के दर्द का उपचार घरेलू और देशी नुस्खों से करना सीखेंगे।

गर्दन के दर्द से आराम

गर्दन का दर्द होने के कारण

– गर्दन को एक ही तरफ़ मोड़कर बैठना
– सिर पर भारी वज़न उठाना
– लगातार गर्दन झुकाकर बैठना, पढ़ना या काम करना
– देर तक मोबाइल या कम्प्यूटर पर काम करना
– गलत तरीके से उठना बैठना
– लेटने और सोने की गलत मुद्राएं
– एक ही करवट में सोना और लेटना
– सोते समय ऊँचे तकिए का प्रयोग करना
– बाइक चलाते समय भारी हेल्मेट लगाना

गर्दन के दर्द के लक्षण

गर्दन अकड़ जाना, गर्दन घुमाने में दर्द होना या नसों का चटकना नेक पेन होने के कुछ सामान्य लक्षण हैं।

गर्दन के दर्द का इलाज

अगर किसी को गर्दन का दर्द हो रहा है तो यहाँ बताए गए उपाय करने चाहिए। जिससे उसे जल्द आराम मिल जाएगा।

1. जैतून का तेल

ऑलिव ऑयल को गरम करके गर्दन और आस पास के हिस्सों की मालिश करें। इसके बाद गुनगुने पानी में तौलिया भिगोकर 10 मिनट तक गर्दन पर बाँधें। आराम पाने के लिए इस उपाय को दिन में 2 से 3 बात करें।

2. सोंठ

सरसों के तेल में सोंठ का पाउडर मिलाकर गर्दन की हल्के हाथों से मालिश कीजिए। इसके साथ ही दूध के साथ अश्गंध और सोंठ का 1-1 चम्मच चूरन सुबह शाम लें।

3. अदरक वाली चाय

गर्दन में दर्द होने पर चाय में अदरक का पेस्ट डालकर पिएं। इससे गर्दन का दर्द चला जाएगा।

4. अजवाइन

अजवाइन को एक पोटली में बांधकर तवे पर गरम कीजिए। फिर इस पोटली से गर्दन की सिंकाई कीजिए। दर्द से निजात मिल जाएगी।

5. लहसुन

कढ़ाही में सरसों का तेल गरम करके उसमें 5 कली लहसुन पीसकर पकाएं। फिर इस तेल से गर्दन की मालिश कीजिए।

गर्दन का दर्द मिटाने के उपाय

6. मेथी

मेथी के दानों में पानी मिलाकर पीसकर लेप बनाएं। इसे दिन में 3 बार गर्दन पर लगाने से नेक पेन चला जाता है।

7. बर्फ़ के टुकड़े

अगर गर्दन का दर्द चोट लगने से हो रहा है तो चोट वाली जगह पर बर्फ़ से सिंकाई करें। इसके बाद गर्म कपड़े को दर्द वाली जगह पर रखें। एक बार में इस उपाय को 20 मिनट तक कीजिए और दिन भर में तीन बार दोहराएं।

8. लौंग का तेल

सरसों के तेल में लौंग का तेल मिलाकर दर्द वाली जगह की मालिश करने से आराम मिलता है।

9. व्यायाम

गर्दन का दर्द होने पर मालिश और घरेलू उपाय करने के साथ-साथ हल्का व्यायाम भी कीजिए। इसके लिए आप किसी फिजियोथेरेपिस्ट की मदद लें। एक्यूप्रेशर से भी नेक पेन में आराम मिलता है।

10. योग

बलासन, नटराज आसान और बतिल आसान करके आप गर्दन का दर्द खत्म कर सकते हैं।

परहेज़ और बचाव

– सोते समय सिर के नीचे तकिया न लगाएं।
– भारी सामान सिर पर न ढोएं।
– नियमित योग और व्यायाम कीजिए।

संबंधित लेख –

Keywords- gardan ka dard, gardan ke dard ka ilaj, gardan mein dard ke gharelu upay, neck pain relief in hindi