जब हम कपड़े धोते हैं या बर्तन मांजते हैं, तो हमारे हाथों की उंगलियाँ सिकुड़ जाती हैं। आइए आज इसके पीछे का वास्तविक वैज्ञानिक कारण जानते हैं। आपके दिमाग़ इसके बारे में प्रश्न ज़रूर आया होगा, कि ये सब क्या है? पानी में काम करने के बाद मेरी उंगलियाँ क्यों सिकुड़ गई हैं?

सिकुड़ी हुई हाथों की उंगलियाँ
Wrinkled wet fingers

आम धारणा है कि जैसे कोई दूसरी वस्तु पानी में भीगकर फूल या सिकुड़ जाती है, ठीक उसी तरह से हमारे हाथों की उंगलियों के साथ भी ऐसा ही होता है। लेकिन ऐसा नहीं है, उंगलियों की त्वचा में पानी जाने से सिकुड़न कतई नहीं होती है। इसके पीछे कोई दूसरा ही कारण है।

एक वैज्ञानिक शोध के निष्कर्ष के अनुसार जिस व्यक्ति की नसें क्षतिग्रस्त हों, उनके हाथों की उंगलियाँ नहीं सिकुड़ती हैं।

गीले हाथों की उंगलियाँ सिकुड़ जाती हैं…

वैज्ञानिक दावा करते हैं कि गीली चीज़ों पर अच्छी पकड़ बनाने के लिए पैरों और हाथोंं की उंगलियाँ सिकुड़ती हैं। ऐसा त्वचा के नीचे की रक्त वाहिकाओं में बाधा आने के कारण होता है, और त्वचा सिकुड़ जाती है।

एक अध्ययन के दौरान प्रतिभागियों के हाथों को 30 मिनट तक गर्म पानी में भिगोने के लिए कहा गया। इसके बाद पकड़ / ग्रिप की जांच करने के लिए कंचे और अन्य गीली सूखी वस्तुएँ उठाने को कहा गया। इस प्रयोग ने स्पष्ट पता चला की सिकुड़ी उंगलियों की पकड़ गीली वस्तुओं पर ज़्यादा मज़बूत होती है, और सामान को आसानी से उठाया जा सकता है। लेकिन जब सिकुड़ उंगलियों से सूखी वस्तुओं पर ग्रिप टेस्ट किया गया तब पकड़ पर कोई अंतर दर्ज़ नहीं किया गया।

सिकुड़ी हुई पैरों की उंगलियाँ
Wrinkled wet feet fingers

न्यूकासेल यूनिवर्सिटी, यूनाइटेड किंगडम के विकासवादी जीवविज्ञानी टॉम स्मज़र्स _ Tom Smulders कहते हैं कि सिकुड़ी हुई उंगलियाँ गीली वस्तुओं पर ठीक वैसे ही पकड़ बनाती है, जैसे गाड़ी के पहिए के ट्रेड्स सड़क पर अपनी पकड़ बनाते हैं।

तो अब आपको पता है कि पानी में काम करने पर हाथों की उंगलियाँ क्यों सिकुड़ जाती हैं!