पेट में कब्ज़ का होना अनेक रोगों को जन्म देता है। भारत में प्रयोग में होने वाले मशीन द्वारा पिसा आटा और ब्रेड आदि के सेवन से पाचन सम्बंधी पेट की कई समस्याएं उत्पन्न होने लगी हैं, जिससे लोग कब्ज़ के शिकार होने लगे हैं। कब्ज़ अनेक प्रकार की बीमारियों को जन्म देता है, इसलिए अगर आप भी इन समस्याओं से बचना चाहते हैं, तो आज ही कब्ज़ दूर करने उपायों को अपनाएं और स्वस्थ जीवन का आनंद उठाएँ।

कब्ज़ दूर करने के उपाय

कब्ज़ दूर करने का इलाज

1. जैतून तेल । Olive oil

अगर आप कब्ज़ से परेशान हैं तो आप अपने खाने में जैतून तेल का इस्तेमाल करें। जैतून तेल न केवल आपके शरीर में कॉलेस्ट्राल को नियंत्रित करता है, बल्कि आपको कब्ज़ में भी राहत देता है। तो आज से ही जैतून तेल का बना खाना खायें।

जैतून तेल का उपयोग

जैतून तेल – 1 चम्मच
नींबू का रस – 1 चम्मच

सुबह सुबह एक चम्मच जैतून का तेल पिएं। अगर आप कुछ खा चुके हैं तो खाने के आधे घंटे बाद पिएं। अगर जैतून तेल के साथ एक चम्मच नींबू का रस मिला कर पिएं तो इससे तेल का स्वाद आपको बेहतर लगेगा। इसका सेवन नियम से प्रतिदिन करें ताकि कब्ज़ दूर करने में आसानी हो और जल्द से जल्द राहत मिले।

2. नींबू और गर्म पानी । Lemon with Hot Water

नींबू का रस चखते या नाम लेते ही मुहँ में पानी आ जाता है। ठीक इसी तरह पेट में भी ख़ूब सारे पाचक रसों का स्राव होने लगता है और जिससे आपकी पाचन स्थिति बेहतर होने लगती है। कब्ज़ होने का सर्वप्रमुख कारण है। आंतो में खाने का ज़्यादा देर तक रुके रहना या फिर आंतों में पाचन शक्ति की कमी का हो जाना। इस स्थिति के लिए नींबू एक तरह का प्राकृतिक पाचक खाद्य पदार्थ की तरह काम करता है।

नींबू का उपयोग

एक गिलास गुनगुने पानी में आधा नींबू का रस निकाल लें। अगर लगे तो एक चुटकी सेंधा नमक भी डाल लें। इसे सुबह सुबह खाली पेट पियें। इसके सेवन से आपको कब्ज़ दूर करने में कोई मुश्किल नहीं होगी।

3. कॉफ़ी । Coffee

कॉफ़ी कब्ज़ दूर करने के लिए बहुत ही बढ़िया खाद्य पदार्थ है। कॉफ़ी में मौजूद कैफ़ीन नामक एक प्रकार का प्राकृतिक स्टिमुलेंट है, मतलब यह आपके आंतों की गतिविधियों को ठीक रखता है और पाचन शक्ति को बढ़ता है।

कॉफ़ी का उपयोग

रोज़ाना एक कप कॉफ़ी का सेवन आपको कब्ज़ में राहत देगा।

4. नियमित टहलना । Daily Walk

अगर आप दिनभर बैठ कर काम करते हैं और चलना फिरना या शारीरिक काम ज़्यादा नहीं करते तो आपको कब्ज़ होने की पूरी पूरी सम्भावना है। इसलिए नियम से रोज़ टहलने की आदत डालें, इससे आपको कब्ज़ की समस्या से मुक्ति भी मिल जाएगी और आपका पाचन स्वस्थ रहेगा। रोज़ सुबह और शाम को टहलें, हो सके तो बच्चों के साथ भी खेलें, इससे आपके शरीर में रक्त संचार में बढ़ेगा और आपके शरीर को ऊर्जा भी मिलेगी और पाचन तंत्र भी ठीक रहेगा। इससे आपका खाना भी पचेगा और भूख भी बढ़ेगी।

5. फ़ाइबर युक्त आहार । Fiber Diet

कब्ज़ दूर करने के लिए प्राकृतिक फ़ाइबर एक सबसे बढ़िया रहता है। आयुर्वेद में भी इस इसबगोल फ़ाइबर का सबसे ज़्यादा इस्तेमाल होता है। यह Psyllium नामक एक पौधे के बीज के छिलके का एक हिस्सा होता है। इसके आलावा कोई भी खाद्य पदार्थ जिसमे फ़ाइबर की अच्छी मात्रा हो तथा कब्ज़ से छुटाकारा दिलाने में सहायक हो। ऐसे फ़ाइबर युक्त आहार का सेवन कब्ज़ से बचने के लिए ज़रूर करें।

इसबगोल का उपयोग

एक चम्मच इसबगोल आधा ग्लास गुनगुने पानी में डाल कर रात में सोने से पहले ज़रुर पिएं ।

Keywords – Home Remedy For Constipation, Constipation Remedies, Kabz ki shikayat, Kabz door karein, Kabz se chhutkara, Kabz ka ilaj