आज तक सबसे अधिक खोजे गए ग्रहों की घोषणा में, नासा ने हमारे सोलर सिस्टम से बाहर 1284 नए ग्रहों के मिलने की जानकारी दी है। हमारे सूरज के अलावा दूसरे तारे का चक्कर लगाने वाले इन ग्रहों की संख्या की जानकारी में दुगुनी बढ़त हुई है। इन ग्रहों की खोज केपलर स्पेस टेलिस्कोप Kepler Space Telescope से की गई है।

नासा ने कहा है कि इनमें से नौ ऐसे ग्रह हैं जिनमें जीवन की अपार संभावनाएँ छुपी हुई हैं।

नासा हेडक्वाटर्स वाशिंगटन के वैज्ञानिक एलेन स्टोफ़न Ellen Stofan ने कहा, इससे हमें आशा मिलती है कि हम पृथ्वी से परे किसी दूसरे तारे का चक्कर लगाने वाले बिल्कुल पृथ्वी जैसे ग्रह ढूँढ़ लेंगे।

स्टोफ़ेन ने आगे बताया कि इससे केपलर द्वारा खोजे गए ग्रहों की संख्या बढ़कर दोगुनी हो गई है।

केपलर स्पेस टेलिस्कोप

केपलर स्पेस टेलिस्कोप जुलाई 2015 प्लैनेट कैंडीडेट कैटलॉग पर किए गए एनालिसिस में 4302 पोटेंशियल प्लैनेट की पुष्टि होती है।

Kepler space telescope, केपलर स्पेस टेलिस्कोप

इनमें से 1284 ग्रह ऐसे हैं जिन पर पृथ्वी के समान जीवन होने की 99% से अधिक संभावनाएँ हैं।

अतिरिक्त 1327 ग्रहों को जीवित ग्रह की श्रेणी में रहने के लिए अनिवार्य आवश्यकताएँ पूरी नहीं कर पाते हैं, लेकिन इन विधिवत अध्ययन जारी है।

बचे हुए 707 ग्रह दूसरे तरह के एस्ट्रोफ़िज़िकल फ़ेनोमेना जैसे हो सकते हैं। दूसरी तकनीक का प्रयोग करके 984 ग्रहों की पहले ही एनालिसिस की जा चुकी है।

नासा के एस्ट्रोफ़िज़िक्स डिविज़न के डायरेक्टर पाउल हर्ट्ज़ Paul Hertz ने कहा, केपलर स्पेस टेलिस्कोप लांच करने से पहले हम नहीं जानते हैं थे एक्स्पोप्लैनेट्स गैलेक्सी में बहुत कम होते हैं या इनका होना सामान्य बात है।

हर्ट्ज़ ने केपलर स्पेस टेलिस्कोप और रिसर्च कम्यूनिटी को धन्यवाद देते हुए कहा कि आज हम जानते हैं कि तारों से ज़्यादा उसके चक्कर लगाने वाले ग्रहों की संख्या है।

इस जानकारी का प्रयोग करके हम अपना अगला मिशन तैयार करेंगे जिससे पता चल सके कि हम ब्रह्मांड में अकेले हैं या हम जैसा कोई दूसरा भी है।

केपलर बहुत दूर स्थिति ग्रहों के डिस्क्रीट सिग्नल्स Discrete Signals को पकड़ता है, इसके लिए वह तारों के अपने ग्रहों के सामने आने पर कम होते प्रकाश का प्रयोग करता है।

आज से दो दशक पहले हमको पहला एक्सोप्लैनेट Expoplanet मिला था, तब रिसर्चर्स को एक एक प्रोसेस करके संभावित ग्रह की पुष्टि करनी पड़ती थी।

नई खोजें नई विधियों पर आधारित हैं जिनसे एक समय पर बहुत से प्लैनेट कैंडीडेट्स Planet Candidates का अध्ययन किया जा सकता है।

जिन ग्रहों की पुष्टि की गई है उनमें से 500 अपने आकार के आधार पर पृथ्वी की तरह चट्टानों वाले ग्रह हो सकते हैं।

इनमें 9 ग्रहों पर जीवन होने की प्रबल संभावना है, क्योंकि अपने सूरज से उतने ही पास जैसे कि हमारी पृथ्वी अपने सूरज से; ऐसे में उनकी सतह पर इतना तापमान हो सकता है, जिससे उस पानी ठहर सके।

इन 9 के साथ साथ 21 अन्य एक्सोप्लैनेट्स भी इस विशेष समूह के सदस्य हो सकते हैं।

नासा के केपलर मिशन वैज्ञानिक नटाली बटाल्हा Natalie Batalha ने कहा, यह अध्ययन केपलर को अपने पूरी क्षमता तक पहुंचने में हेल्प करेगा, जिससे उन तारों की विस्तृत जानकारी मिलेगी जिनमें जीवन को बनाये रखने की क्षमता है, पृथ्वी के समान आकार वाले ग्रहों की संख्या भविष्य में जीवन खोजने के मिशन को बनाने की प्रेरणा देंगे।

अब तक लगभग 5000 प्लैनेट कैंडीडेट्स खोजे जा चुके हैं, जिनमें से 3200 की पुष्टि की जा चुकी है, और इसमें से 2325 ग्रह केपलर स्पेस टेलिस्कोप द्वारा खोजे गए हैं।

केपलर मिशन वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें

Keywords – Kepler Space Telescope, NASA Space Mission, Kepler Mission, Kepler Research Team, Exoplanet Research