ऐसे तीन ग्रहों की खोज की जा चुकी है, जहाँ जीवन की संभावना है। लेकिन बहुत से बुद्धिजीवी प्रश्न कर रहे हैं कि क्या सच में वहाँ मानव जीवन के अनुकूल परिस्थितियाँ हैं। ये ग्रह अपने सूर्य से इतनी दूरी पर है कि वहाँ पानी की उपस्थिति सम्भव है।

जीवन की संभावना

किसी ग्रह पर जीवन होने के लिए आवश्यक है कि वहाँ का तापमान और गुरुत्वाकर्षण दोनों ही पृथ्वी की तरह अनुकूल हो। अच्छी ख़बर है कि ये ग्रह एक शांत और छोटे परिपथ में अपने सूर्य के परिक्रमा करते हैं, जो हमारे सूर्य की तुलना में लगभग 8 गुना छोटा है। इसी आधार पर कहा जा रहा है कि वहाँ मानव जीवन के लिए अनुकूल सम्भावनाएँ हैं।

TRAPPIST दूरबीन

इन ग्रहों की खोज करने के लिए ट्रांज़िटिंग प्लैनेट्स एंड प्लेनेट्सिमल्स स्माल टेलिस्कोप TRAnsiting Planets and PlanetesImals Small Telescope यानि टीआरएपीपीआईएसटी TRAPPIST का प्रयोग किया है। जो कि यूरोपियन सदर्न ऑब्ज़र्वेट्री में है और इसे बेल्जियन यूनिवर्सिटी ऑफ़ लिएज Université de Liège संचालित करती है। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इस दूरबीन का आकार 60 सेंटीमीटर है।

जीवन की संभावना और नया सौरमंडल

यह दूरबीन अपने सामने से गुज़रने वाले तारे की प्रकाश की तीव्रता को रिकॉर्ड करता है। जिसका प्रयोग उसके ग्रहों के आकार, उनका द्रव्यमान और परिक्रमा के परिपथ का पता लगाने में किया जाता है। कम क्षमता वाले तारों के साथ इस टेलिस्कोप का प्रयोग करना आसान है।

जीवन की संभावना

इस परियोजना से जुड़े बेल्जियन और अमेरिकी वैज्ञानिक पूरी तरह आश्वस्त हैं कि एक दिन पृथ्वी ग्रह से परे भी जीवन की संभावना को सच किया जा सकेगा। पृथ्वी जैसे यह तीन ग्रह हमारे सौरमंडल के कुम्भ राशि नक्षत्र के समीप हैं। लेकिन यह दूरी 39 प्रकाश वर्ष है, जहाँ तक का सफ़र आज सम्भव नहीं है। आज हमारे पास जो भी स्पेसक्राफ़्ट हैं वह इस दूरी को 30 हज़ार साल में पूरा कर सकते हैं। लेकिन इतनी दूरी पर मौजूदा टेक्नोलॉजी का प्रयोग करके वहाँ के वातावरण की जानकारी एकत्र कर सकते हैं।

जीवन की संभावना और यूरोपियन सदर्न ऑब्ज़र्वेट्री

भविष्य की परियोजना

भविष्य में मानव रहित ऐसे अंतरिक्ष यान बनाये जा सकते हैं जिन्हें हम अपने सौरमंडल के बाहर भेज सकें। इस विषय में एक दीर्घकालीन योजना पर काम करने के लिए रूसी अरबपति यूरी मिल्नर Yuri Milner , भौतिक विज्ञानी स्टीफ़ेन हॉकिंस Stephen Hawking और फ़ेसबुक ओनर मार्क ज़ुकरबर्ग Mark Zuckerberg ने एक बैठक में भाग लिया था।

इस बैठक में जो विचार प्रस्तुत किया गया उसके अनुसार एक इतना छोटा अंतरिक्ष यान बनाना होगा जिसे लेज़र बीम की सहायता से प्रकाश की गति के पांचवे भाग बराबर गति दी जा सके तो यह एल्फ़ा सेंचुरी सौरमंडल तक 20 सालों में पहुंच जाएगा।

loading...