आज की ज़रूरतें और उनकी पूर्ति के लिए बदलती जीवनशैली ने न केवल महिलाओं के मन बल्कि तन को भी बेहद प्रभावित किया है। जिसके कारण न केवल उनका स्वभाव रुखा व चिड़चिड़ा हो रहा है बल्कि वह प्रतिदिन कई रोगों का शिकार भी हो रही हैं। महिलाओं की बदलती लाइफ़स्टाइल, खानपान की आदतें और बढ़ते प्रदूषण के कारण उनका मासिक चक्र बिगड़ जाता है यानि पीरियड सही अंतराल पर नहीं आता है। हमारे पास अनेक ऐसे घरेलू उपाय व खाद्य पदार्थ हैं जिनका सेवन करने मासिक चक्र नियमित किया जा सकता है और पीरियड की अनियमितता को दूर किया जा सकता है। आइए उन खाद्य पदार्थों की जानकारी लेते हैं जो महिलाओं की पीरियड्स को नियमित कर सकते हैं।

मासिक चक्र नियमित करने का उपाय

मासिक चक्र नियमित करने वाले आठ खाद्य

1. अजवाइन की पत्तियाँ

मासिक चक्र के समय गरम चीज़ों का सेवन करना चाहिए। ये बेहद लाभकारी है। अजवाइन का सेवन करने से पेट की सूजन और मासिक चक्र की अनियमितता दूर हो सकती है। इसके लिए अजवाइन की कुछ पत्तियों को 1 गिलास पानी में उबाल लें और इस पानी को हल्का गुनगुना सेवन करने से मासिक चक्र की अनियमितता समाप्त हो जाती है। चुटकी भर अजवाइन पाउडर और नमक का का गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से पेट की गैस से राहत मिलती है।

2. दूध के साथ बादाम

मासिक चक्र की अनियमितता की समस्या या मासिक धर्म में होने वाले दर्द को दूर करने के लिए प्रतिदिन 1 गिलास दूध में 2 बादाम को डालकर अच्छे से पका लें और फिर इस दूध को गुनगुना गुनगुना पीने से आराम मिलती हैं। इसका सेवन करने से रक्त का प्रवाह भी सुचारु रुप से होता हैं।

3. जीरा भी है ख़ास

जीरा भी अजवाइन की तरह बेहद गुणकारी होती है। इसके सेवन करने से मासिक चक्र नियमित समय पर आने लगता है।

4. सुगन्धित सौंफ़

सौंफ़ बेहद सुगन्धित गुणकारी पदार्थ है। भोजन करने के बाद थोड़ी सी सौंफ़ का सेवन करना लाभकारी रहता है। यह भोजन पचाने में सहायक है। अगर किसी महिला को मासिक चक्र की अनियमितता की समस्या है तो उसे 1 गिलास पानी में 2 चम्मच सौंफ़ उबालकर पानी को ख़ाली पेट सेवन करना चाहिए। जिससे मासिक चक्र नियमित हो जाता और फ़्लो भी सुधर जाता है।

5. मेथी के बीज

मासिक धर्म की अनियमित को दूर करने के लिए गरम चीज़ों का सेवन करने से रक्त का प्रवाह सुचारू रूप से होता है और पेट दर्द में भी राहत मिलती है। इसलिए जब यह समस्या हो तब थोड़ी मेथी को गुनगुने पानी के साथ पी लें या फिर थोड़े पानी में मेथी को उबाल कर गुनगुने पानी को पीने से बेहद फ़ायदा मिलता है। साथ ही साथ स्तनपान करा रही महिलाएं यदि मेथी के बीजों का सेवन करें तो स्तनों का दूध भी बढ़ता है।

6. औषधीय तुलसी

तुलसी में कैफ़ीक एसिड होने के कारण एक प्राकृतिक दर्द निवारक है और एंटीऑक्सिडेंट गुण भी होते हैं। अगर मासिक चक्र अनियमित हो जाए तो तुलसी के बीज या पत्तों का सेवन करने से लाभ मिलता है।

7. मीठा गुड़

महिलाओं को पीरियड अनियमित हो जाने पर हर दिन सुबह सुबह ख़ाली पेट गुड़ और अदरक की चाय पीने से फ़ायदा मिलता है। इसकी गरम तासीर मासिक चक्र नियमित बनाए रखने में मदद करती है। चूँकि गुड़ आयरन का एक अच्छा स्त्रोत हैं और गुणों की खान है। इसलिए इसे अपने आहार में ज़रूर शामिल करें।

8. अदरक

अगर पीरियड आने का अंतराल अधिक हो जाए तो अजमोद और अदरक की चाय पीनी चाहिए। अदरक के सेवन करने से मासिक चक्र नियमित हो जाता है। इसका सेवन करने पर एसिडिटी की समस्या हो सकती है, इसलिए घबराने की कोई बात नहीं है।

तो इन 7 खाद्य पदार्थों के नियमित सेवन से अब आप मासिक चक्र की अनियमितता और इसमें होने वाले दर्द से निजात पा सकते हैं।