गर्मी बेहद शरीर को चुभने वाली होती है लेकिन गर्मी के बाद जैसे ही बरसात शुरू होती है हम लोग सब कुछ भूलकर बरसात के मौसम का मज़ा लेने के लिए भीगने लगते हैं। जबकि इस मौसम में कई तरह के इंफ़ेक्शन होने के चांसेज होते हैं। ख़ासतौर से सबसे ज़्यादा आँखों में इंफ़ेक्शन होने की सम्भावना होती है क्योंकि यह हमारे शरीर का सबसे नाज़ुक व सवेदनशील हिस्सा है। आँखें मौसम में होने वाले बदलाव को झेल नहीं पातीं और कई बीमारियां जैसे फ़्लू, सूजन, ड्राई आई और स्टाई की समस्या हो जाती है। बरसात के मौसम में कीटाणु अधिक पनपते हैं जिससे आँखों की समस्या बढ़ती है। साथ ही साथ नाइट्रिक ऑक्साइड, नाइट्रोजन डाइऑक्साइड और सल्फर डाइऑक्साइड जैसे हानिकारक तत्व हवा में घुलकर आँखों को नुक़सान पहुँचाते हैं। इसलिए इस मानसून में आँखों की देखभाल करें ताकि आपकी आँखें हमेशा सुरक्षित बनी रहें।

मानसून में आँखों की देखभाल

मानसून में आँखों की देखभाल और सम्बंधित रोग

ड्राई आइज़ यानि शुष्क आँख

बरसात में लगातार बढ़ते हुए इंफ़ेक्शन, कम्प्यूटर पर लगातार काम करते रहना या लम्बे समय तक टीवी देखने की वजह से ड्राई आइज़ या शुष्क आँखों की समस्या बढ़ने लगती है।जिससे आँखों में कीचड़, खुजली या जलन होने लगती है।

कंजक्टिवाइटिस

बरसात के मौसम में लोगो को अक्सर आँखों में कजंक्टिवाइटिस की परेशानी होने लगती है। जिससे आँखों में लाली व सूजन, खुजली आदि की समस्या होने लगती है। इसे आई फ़्लू या पेनफ़ुल रेड आई व पिंक आई के नाम से भी जाना जाता है।

आँखों की उचित देखभाल

बरसात के मौसम में अपनी नाज़ुक सी आँखों की ख़ास देखभाल करें ताकि ये संक्रमण से बची रहें और आपकी आंखें हमेशा ख़ूबसूरत बनी रहें। तो अपनी नाज़ुक सी आँखों की ख़ास देखभाल के लिए बरसात के मौसम में इन टिप्स को ज़रूर अपनाएं।

1. हेल्दी और पौष्टिक भोजन लें।

2. भरपूर नींद लें।

3. आँखों के लिए किसी संक्रमित व्यक्ति का चश्मा, लेंस या तौलिये का उपयोग न करें।

4. अगर आप लेंस का उपयोग करते हैं तो बरसात के मौसम में इसका बेहद सावधानी से उपयोग करें क्योंकि इससे आपकी नाज़ुक सी आँखों को नुक़सान भी हो सकता है।

5. आँखों पर खीरे के टुकड़े या गुलाब जल में भीगें हुए रुई के फोहे का उपयोग कर सकते हैं।

6. आँखों में हर्बल आई ड्राप डाल सकते है जो आँखों को संक्रमण से बचाते है व आँखों की शुष्कता को भी समाप्त कर देते हैं।

7. दिन में कम से कम 2 लीटर पानी पिएं ताकि शरीर की गन्दगी बाहर निकल सके और शरीर में नमी बनी रहें।

8. आँखों में किसी भी तरह की समस्या या इंफ़ेक्शन होने पर तुरन्त चिकित्सक के पास जाएँ और चिकित्सक की परामर्श अवश्य लें। ताकि सही समय पर मानसून में आँखों की देखभाल हो सकें।