जीवन में एक बार कभी न कभी मुँह में छाले सभी को पड़ते हैं। शायद ही आज कोई व्यक्ति ऐसा हो जिसे मुँह के छाले न पड़े हों। दर्द और जलन वाले छाले हमें न तो ठीक से खाना खाने देते हैं और न ही हम ठीक से बोल पाते हैं। ये छाले हमें क्यों पड़ते हैं इसे जानना बहुत ज़रूरी है ताकि हम इनसे बच सकें।

मुँह में छाले पड़ना एक आम-सी बात है। मुँह सम्बंधित परेशानियों से लगभग बीस प्रतिशत जनसंख्या प्रभावित रहती है। शोध बताते हैं कि महिलाओं के मुँह में छाले पुरुषों और बच्चों की अपेक्षा अधिक पड़ते हैं। छालों से बचने के लिए जानकारी ही बचाव है।

मुँह में छाले और बचाव

मुँह में छाले पड़ने की वजह

1. खाने पीने की चीज़ें

हमारे भोजन में शामिल कुछ खट्टी चीज़ें जैसे नींबू, संतरा, टमाटर, स्ट्राबेरी और अंजीर आदि मुँह के छालों का कारण बन सकती है। साथ ही अन्य आहार जैसे चॉकलेट, बादाम, मूँगफली और गेहूँ का आटा भी छाले पड़ने का कारण हो सकते हैं।

2. मुँह की साफ़-सफ़ाई

दिन भर कड़ी चीज़ें खाना, सॉफ़्ट और सही आकार के टूथब्रश का इस्तेमाल न करना आदि में मुँह में छाले पड़ने का कारण हो सकते हैं। सोडियम सल्फ़ेट युक्त टूथपेस्ट का प्रयोग करना छालों की प्रॉब्लम बन सकता है।

3. चिंता और तनाव

जो व्यक्ति बहुत अधिक तनाव में रहते हैं और अपने काम को लेकर बहुत चिंता करते हैं उनके मुँह में छाले पड़ने की अधिक सम्भावना रहती है क्योंकि उदासी, चिंता या डिप्रेशन की स्थिति में छाले पैदा करने वाले केमिकल स्रावित होते हैं।

4. पोषक तत्वों की कमी

अगर हमारे दैनिक भोजन में वाइटमिन बी12, आयरन और फोलिक एसिड जैसे पोषक तत्वों की कमी या अभाव हो तो आपके मुँह में छाले पड़ सकते हैं। इसके लिए आवश्यक है कि आप भोजन में बैलेंस डायट शामिल करें।

5. ध्रूमपान बंद करना

जो लोग लम्बे समय तक ध्रूमपान करने के बाद उसे छोड़ने की चेष्टा करते हैं तो उनको मुँह के छालों की अस्थायी समस्या शरीर में होने वाले रासायनिक परिवर्तनों के कारण बन जाती है। लेकिन सामान्यत: ऐसे छाले समय के साथ ठीक हो जाते हैं।

6. हार्मोन परिवर्तन

महिलाओं में मासिक धर्म के समय मुँह में अक्सर छाले हो जाते हैं ऐसा शरीर में हार्मोनल स्तर में परिवर्तन होने के कारण होता है।

7. चिकित्सीय स्थिति

सीलिएक रोग, वायरल संक्रमण और प्रतिक्रियाशील गठिया आदि के निदान के समय मुँह में छाले पड़ना आम बात है। यदि आपके शरीर में इम्यूनिटी कम हो जाये और पेट ख़राब रहता हो तो मुँह में छालों की समस्या बार-बार हो सकती है।

8. दवाओं का रिएक्शन

अगर आप किसी बीमारी का इलाज करा रहे हैं तो इलाज के लिए दी जाने वाली दवाओं के कारण भी मुँह में छाले पड़ सकते हैं। छाती के दर्द को कम करने वाली दवा जैसे बीटा ब्लॉकर्स मुँह के छालों को बढ़ा सकते हैं।