शोधकर्ताओं ने एक ऐसी वियरेबल डिवाइस (Wearable Device) विकसित की है जो दृष्टि बाधित व्यक्तियों को टक्कर खाने से बचायेगी।

ऐसे लोग जिन्होंने अपनी आंशिक परिधीय दृष्टि खो दी है, उदाहरण के लिए ग्लोकोमा (Glaucoma) के शिकार, या सिर की चोट के कारण आंशिक रूप से दिखायी नहीं देता है, जिन्हें प्राय: घूमने फिरने में दिक्कत होती है और कहीं पर गिरने और आस-पास की चीज़ों से लड़ने की सम्भावना बढ़ जाती है। उनके लिए बहुत कारगर होगी।

दृष्टि बाधित व्यक्ति

दृष्टि बाधित व्यक्तियों को इस डिवाइस का लाभ

शोधपत्र के सहलेखक श्रीनिवास पुंडलिक, असिस्टेंट प्रोफ़ेसर, हार्वड मेडिकल स्कूल बताते हैं कि उन्होंने एक ऐसी चेतवानी देने वाली डिवाइस बना ली है, जो होनी वाली टक्करों को टक्कर के समय के आधार पर भाँप सकती है। जबकि पहले के गैजेट होने वाली टक्कर को वस्तु की समीपता के आधार पर पता करते थे। सबसे बड़ी बात यह है कि कोई भी दृष्टि बाधित इसे अपनी जेब में रखकर चल सकता है।

ये शोध इंवेस्टिगेटिव ऑप्थैल्मोलॉजी एंड विज़ुअल साइंस में छपा है।

सीनियर आथर डॉ० गैंग लाओ बताते हैं कि यह डिवाइस तभी चेतवानी देता जब कोई व्यक्ति बाधा क़रीब जा रहा होता है न कि तब जब वह किसी वस्तु के पास खड़ा होता है या कोई वस्तु दृष्टि बाधित व्यक्ति के पास से होकर जाती है। डिवाइस से निकलने वाली चेतवानी ध्वनि सरल और समझ में आने वाली है।

यह गैजेट सम्भावित टक्करों को लगभग 37 प्रतिशत कम कर देता है। यह डिवाइस आंशिक रूप से या पूर्ण रूप से दृष्टि बाधित लोगों की चलने फिरने में सहायता करने में काफ़ी हद तक सफल है।

Source: Science Daily