ज़्यादातर लोग सुबह उठते ही नींबू पानी पीते हैं। पानी में नींबू निचोड़ कर पीने से शरीर को विटामिन सी, पोटैशियम और फ़ाइबर मिलता है। हालांकि इसका ज़्यादा सेवन करने से कुछ साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते हैं। ज़्यादा नींबू पानी पीने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है और डीहाइड्रेशन की समस्या बढ़ जाती है। इसके अलावा कई लोगों को दाँतों में ठंडा-गरम भी महसूस होने लगता है यानि सेंसिटिविटी की प्रॉबल्म हो जाती है। इसके अलावा ऐसी कई और समस्याएँ हैं, जो नींबू पानी अधिक पीने से हो सकती हैं। इसका नियमित सेवन करने पहले एक बार डॉक्टर की सलाह ज़रूर ले लें। आइए जानते हैं नींबू पानी अधिक पीने से क्या-क्या साइड इफ़ेक्ट्स हो सकते हैं।

नींबू पानी

नींबू पानी पीने के नुकसान

1. डिहाइड्रेशन

नींबू पानी अधिक पीने से पेशाब आती है, जिससे डीहाइड्रेशन हो सकता है। अगर आप पीना भी चाहते हैं तो ज़्यादा से ज़्यादा सादा पानी पिएँ।

2. सीने में जलन

अगर आपको एसिडिटी की समस्या है तो, नींबू का सेवन एक दम बंद कर दीजिए क्योंकि इसमें एसिड होता है।

3. किडनी में समस्या

नींबू में एसिडिक लेवल के अलावा उसमें ऑक्सलेट भी होता है, जो कि ज़्यादा सेवन से शरीर में क्रिस्टल बन सकता है। ये क्रिस्टलाइज़्ड ऑक्सलेट, किडनी स्टोन और गॉलस्टोन का रूप ले सकता है।

4. पेट ख़राब हो सकता है

कई बार लोग खाना पचाने के लिए नींबू के रस का सेवन करते हैं क्योंकि इसका एसिड पाचन में मदद करता है। पर पेट में ज़्यादा एसिड हो जाने की वजह से पेट ख़राब हो सकता है। नींबू को हमेशा खाने में मिला कर ही खाएँ।

5. दाँतों में ठंडा-गरम लगना

नींबू में सिट्रस एसिड होता है, जिसका दाँतों में ज़्यादा संपर्क होने से दाँत संवेदनशील हो जाते हैं। अगर आपको नींबू पानी पीना भी है तो उसे हमेशा स्ट्रॉ से पिएँ, जिससे पानी दाँतों को न छुए।

कुछ सावधानियाँ बरतें

नींबू पानी को कभी भी बीमारी को दूर करने के लिए नहीं पीना चाहिए। अगर आपको इसे पीने के बाद कोई साइड इफ़ेक्ट लगे, तो इसका सेवन तुरंत ही बंद कर दें। अगर आपको इसे विटामिन सी प्राप्त करने के लिए पीना है, तो केवल आधा नींबू निचोड़ कर आधे गिलास पानी में मिक्स कर के पिएँ।