बीते समय में लोग अपने दांत स्वस्थ, सुंदर और मजबूत रखने के लिए किसी मंजन और माउथवाश का प्रयोग नहीं करते थे। पहले नीम के दातून और कीकर की दातून से दांत मांजे जाते थे। जिससे मुँह की पूरी सफ़ाई होती थी और मुँह की बीमारी भी नहीं होती थी।

पीले दांत होने पर दूसरों के सामने मुस्कुराना हँसना मुश्किल हो जाता है। अगर कोई पीले दांत पर टीका टिप्पणी कर दे तो बहुत बुरा लगता है और शर्मिंदगी झेलनी पड़ जाती है।

सफेद दांत होने पर मुस्कान खिली खिली लगती है। आज सफेद दांत पाने के लिए बाज़ार में अनेक टूथपेस्ट, माउथवाश और टूथ व्हाइटनिंग उत्पाद आ रहे हैं। इनका दावा होता है कि कुछ दिन में आपके दांत सफेद कर देंगे। लेकिन ये उत्पाद महंगे होने के कारण हर किसी की पहुंच से बाहर हैं। कई बार लोगों को इनके दुष्प्रभावों का भी सामना करना पड़ता है।

पीले दांत सफेद करना

पीले दांत का कारण

१. ग़लत खानपान, तंबाकू का सेवन, सिगरेट पीना आदि दांत पीले होने की वजह बन जाती हैं।
२. नए स्थान पर जाने पर वहां का पानी सूट न करने से भी दांत पीले हो सकते हैं।
३. चाय और कॉफ़ी के अधिक सेवन से भी दांत पीले पड़ जाते हैं।
४. दांत ठीक से साफ़ करने पर दांत गंदे रहते हैं। उन पर पीलापन जमता है।
५. ठंडी वस्तुएं अधिक खाने पीने से भी दांत पीले हो सकते हैं।

सफेद दांत पाने के डेंटिस्ट के उपाय

१. दांत साफ़ करके उस पर पालिश की जाती है। जिससे आपके दांत सुंदर और चमकदार हो जाते हैं।
२. टीथ व्हाइटनिंग करवा के दांत की सफेदी वापस लायी जा सकती है।
३. टेढ़े मेढ़े दांत कितना भी साफ़ करें पर पीलापन जमता रहता है। इसके लिए आप डेंटिस्ट से दांतों में ब्रेसेस लगवा सकते हैं।

पीले दांत सफेद करने के घरेलू नुस्खे

दांतों की खोयी सफेदी वापस पाने और पीलापन दूर करने के लिए आप आगे बताए गए घरेलू उपाय कर सकते हैं।

१. थोड़े से पानी में खाना पकाने का सोडा और चुटकी भर नमक मिलाकर दांत साफ़ करें।

२. थोड़ा सा सरसों का तेल लेकर इसमें नमक और हल्दी मिलायें। अपनी उंगलियों की सहायता से इसे दांतों और मसूढ़ों पर धीरे धीरे मलें। थोड़ी देर बाद कुल्ला करके मुंह साफ़ कर लें। इससे न केवल पीले दांत सफेद होंगे बल्कि हिलते हुए दांत मजबूत हो जाएंगे। इससे पायरिया में लाभ मिलता है।

३. नींबू के छिलकों पर ज़रा सा सरसों का तेल डालकर दांतों और मसूढ़ों पर घिसें। इससे पीले दांत सफेद और चमकदार बनते हैं। दांतों पर मसूढ़ों की पकड़ भी मजबूत होती है। दांत के कीड़े और पायरिया रोग भी नहीं होता है।

४. नीम के पत्तों की राख, कोयला का चूरा और कपूर तीनों मिलाकर नियमित मसूढ़ों की मालिश करने से पायरिया रोग ठीक होता है। साथ ही दांत मजबूत और सफेद होने लगते हैं।

५. सरसो के तेल में सेंधा नमक मिलाकर मंजन करने से सांस की बदबू ख़त्म होती है। मसूढ़ों से ख़ून आना बंद होता है। दांत मजबूत हो जाते हैं। पायरिया जड़ से समाप्त हो जाता है।

६. स्ट्राबेरी के गूदे से दांतों की मालिश करने से पीले दांत सफेद और साफ़ हो जाते हैं।

दांतों को पीला होने से बचाने के उपाय

– हर दिन कुल्ला मंजन कीजिए।
– तंबाकू, गुटखा, खैनी, बीड़ी और सिगरेट न पीएं
– मद्यपान न करें।
– अधिक ठंडी वस्तुओं के सेवन से बचें।