पेशाब में जलन का उपचार: स्त्री या पुरुष किसी को भी पेशाब में जलन की समस्या हो सकती है। इस समस्या में थोड़ी थोड़ी देर में पेशाब लग जाती है। कभी ये समस्या कुछ दिनों में ठीक हो जाती है लेकिन इसे ठीक होने में महीनों भी लग सकते हैं। इस बीमारी को अनदेखा करना बिल्कुल ठीक नहीं है। इस बीमारी को आयुर्वेद में मूत्र क्रच कहते हैं। जैसे ब्लैडर में दर्द और जलन महसूस हो, तुरंत इस बीमारी का इलाज शुरु कर दें। नहीं तो यह बीमारी कई और बीमारियों की जड़ बन सकती है।

Urine Irritation & Pain Treatment Tips in Hindi

पेशाब में जलन
Urine Irritation Homeremedies in Hindi

पेशाब करना एक प्राकृतिक आवश्यकता है। मूत्र त्याग करने से शरीर के छने हुए विषैले टॉक्सिन पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और शरीर डि-टॉक्सिफ़ाइ होता है। स्वस्थ शरीर के लिए इस प्रक्रिया का सुचारु रहना आवश्यक हो जाता है। ताकि यूरिन और ब्लैडर से जुड़ी बीमारियों से बचे रह सकें।

यूरिन करते समय जलन होने के कारण

– मूत्र मार्ग में संक्रमण होना और ब्लैडर में सूजन आना।
किडनी में पथरी हो जाए तो गुर्दे में दर्द होता है और पेशाब में जलन होती है।
– शरीर में पानी की कम मात्रा होने से भी ब्लैडर में जलन महसूस हो सकती है।
– लीवर प्रॉब्लम होना।
– रीढ़ की हड्डी में चोट लगना।
– शुगर यानि डायबिटीज़ की बीमारी होना।

पेशाब में दर्द और जलन के लक्षण

– पेशाब में बदबू आना।
– ब्लैडर में दर्द होना।
– पेशाब बार-बार आना या कम आना।
– पेशाब का रंग पीला होना।
– बूंद बूंद पेशाब होना।
– पेट में दर्द होना और मूत्र मार्ग में जलन होना।

पेशाब में जलन और दर्द दूर करने के उपाय

1. यूरिन से जुड़ी समस्या का प्राथमिक घरेलू उपाय है, अधिक से अधिक पानी पीना। हर एक घंटे में पानी पीने की आदत डालें। इससे ब्लैडर में जमा बैक्टीरिया बाहर निकल जाएंगे। साथ शरीर में पानी की कमी भी नहीं होगी।

2. ऐसे फल और सब्ज़ियां खाएं जिसमें सिट्रिक एसिड की मात्रा अधिक हो। ये यूरिन इंफ़ेक्शन बनाने वाले बैक्टीरिया को ख़त्म करता है। खट्टे फलों जैसे नींबू और मौसमी में सिट्रिक एसिड की पर्याप्त मात्रा होती है।

3. नारियल पानी पीने से भी पेशाब की जलन ख़त्म हो जाती है। शरीर में होने वाली पानी की कमी पूरी होने के साथ साथ अनेकों मिनिरल्स भी मिल जाते हैं।

4. आधा गिलास चावल के मांड में थोड़ी सी चीनी मिलाकर पीने से यूरिन की इर्रीटेशन ख़त्म हो जाती है।

5. अनार का जूस भी जलन दूर करते में असरदार है।

6. बादाम की 5 गिरी और 7 छोटी इलायची मिसरी के साथ पीस लें। इसे एक गिलास पानी में घोलकर पीने से दर्द और जलन कम होने लगती है।

पेशाब में जलन और दर्द में आराम
Urine irritation and pain relief

Peshab mein Jalan & Dard se Aaram

7. रात को सोने से पहले एक गिलास पानी में 1 चम्मच धनिया पाउडर मिलाकर रख दें और सुबह इसे छान कर गुड़ या चीनी मिलाकर पिएं।

8. साफ़ सफ़ाई का पूरा ध्यान रखें। गुप्तांगों दिन में साफ़ पानी से 3 बार धोएं ताकि कोई इंफ़ेक्शन न हो सके।

9. अगर आपको किडनी में पथरी की वजह से पेशाब में जलन हो रही है और दर्द होता है तो बीयर पीने से लाभ मिल सकता है। इससे स्टोन गलकर शरीर से बाहर निकल जाएगा। इस उपाय से पहले डॉक्टरी पराशर्म अवश्य करें।

10. कुछ दिनों तक गुनगुना पानी पिएं। इससे पेशाब करते समय होने वाले दर्द में आराम मिलेगा। कच्चे दूध में थोड़ा पानी मिलाकर पीने से भी फ़ायदा होता है। इसके अलावा पानी में थोड़ी से फिटकरी डाल दिन में 3 बार पीने दर्द ठीक हो जाता है।

मूत्र त्याग में जलन समाप्त करने का आयुर्वेदिक उपचार

1. आंवले का चूरन और इलायची बराबर मात्रा में मिलाकर पानी के साथ पिएं। आंवले का रस यूरिन की जलन को दूर करने में बहुत उपयोगी है।

2. बड़ी इलायची के दाने और कलमी शोरा को पीसकर चूरन बना लें। बिना मलाई वाले दूध में आधा गिलास पानी को मिक्स करके 1 चम्मच चूरन को फांक कर पी जाएं। इस उपाय को दिन में 3 बार करने से 2 दिन में ही पेशाब में जलन से छुटकारा मिल जाएगा।

3. पेशाब करते समय दर्द हो या फिर बार बार उठकर पेशाब जाना पड़े। किसी भी स्थिति में 1 गिलास पानी में 1 चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर पीने से यूरिन में मौजूस एसिडिटी कम हो जाती है। जिससे समस्या में आराम मिलता है।

4. रात को सोने से पहले 1 मुट्ठी गेहूँ को पानी में भिगोकर रखें और सुबह इसी पानी में गेहूँ को पीस कर छान लें। इस पानी में थोड़ी मिसरी मिलाकर पी जाएं। हफ़्ते भर इस उपाय को करने पेशाब में जलन और दर्द की समस्या समाप्त हो जाएगी।

5. मकई के दाने पानी में उबालें और उस पानी को छानकर उसमें थोड़ा मिसरी मिलाकर पीने से जलन कम होने लगती है।

यूरिन प्रॉब्लम से बचने और इलाज के लिए होम्योपैथिक ट्रीटमेंट करना चाहते हैं तो किसी होम्योपैथिक डॉक्टर से सम्पर्क करें। अगर आप बाबा रामदेव की आयुर्वेदिक मेडिसिन का प्रयोग करना चाहते हैं तो ये आपको पतांजलि शॉप या किसी पंसारी की दुकान पर मिल जाएंगी।