पुदीने का चटनी के अलावा भी कई तरह से प्रयोग किया जाता है। पुदीना विटामिन ए, बी, सी और ई के साथ-साथ कैल्शियम, पोटैशियम और आयरन का प्रचुर स्रोत है। इसमें न केवल भोजन को स्वादिष्ट बनाने बल्कि शरीर को भी स्वस्थ रखने की क्षमता होती है। यह पेट की बीमारियों को दूर करके आपकी पाचन शक्ति को बढ़ाता है। इन्हीं गुणों की वजह से पुदीने वाली चाय का चलन चल गया है। पुदीने की चाय कैफ़ीन मुक्त होती है। वैसे तो पुदीने का प्रयोग कई तरह से होता है, लेकिन पुदीने वाली चाय के फ़ायदे हैरान कर देने वाले हैं। इस आलेख में हम आपको पुदीने की चाय बनाना और उसके फ़ायदों के बारे में बता रहे हैं।

पुदीने वाली चाय
Mint Tea Recipe in Hindi

पुदीने वाली चाय की रेसपी

10 पुदीने की ताज़ी पत्तियां
1/4 चम्मच काली मिर्च पाउडर
चुटकी भर काला नमक
1 गिलास पीने वाला पानी
आवश्यकतानुसार दूध (वैकल्पिक)
स्वादानुसार चीनी (वैकल्पिक)

पुदीने की चाय बनाने की विधि

ताज़े पानी से धुली हुई पुदीने की पत्तियां, काली मिर्च और काला नमक 1 गिलास पानी में डालकर 7-8 मिनट उबालकर छान लें। इस तरह पानी मिंट टी तैयार हो जाती है। आप अगर दूध और शक्कर मिलाना चाहें तो ऐसा कर सकते हैं। इस तरह आपकी दूध वाली पुदीने की चाय बन जाएगी।

बाज़ार में भी मिंट टी बैग मिल रहे हैं। अगर आप उन्हें प्रयोग करना चाहें तो कर सकते हैं। इसे प्रयोग करने की जानकारी यूज़र मैनुअल भी दी रहती है।

पुदीने की चाय के फ़ायदे

वेट कंट्रोल

मिंट टी पाचन शक्ति को मज़बूत बनाकर वज़न कम करने की प्रक्रिया को तेज़ कर देती है। इसके साथ ही यह चाय पीने से खून में शुगर की मात्रा कंट्रोल हो जाती है, साथ ही मीठा खाने का मन भी कम करता है। पुदीने की सुगंध अधिक खाने की इच्छा को घटाती है।

पुदीने वाली चाय शरीर की गंदगी को निकालकर उसे डिटॉक्सीफ़ाइ करती है।

वज़न और पेट की चर्बी घटाना
Hindi tips to lose weight

स्वस्थ त्वचा

ऑयली स्किन और कील मुहांसे खत्म करने में पुदीना समर्थ है। पुदीने में पाया जाने वाले मेथनॉल स्किन को ठंडक देकर उसे ताज़गी देता है।

सेंस्टिव स्किन एलर्जी से जल्दी प्रभावित हो जाती है। 1 कप पुदीने वाली चाय से स्किन एलर्जी में काफ़ी फ़ायदा मिलता है, जिससे त्वचा की जलन ख़त्म हो जाती है।

सुन्दर और घने बाल

पुदीने की चाय बालों के लिए काफ़ी अच्छी होती है। यह स्कैल्प के नीचे की कोशिकाओं में रक्त संचार को एक्टिव रखती है, जिससे बाल सुंदर और घने हो जाते है। नियमित एक कप पुदीने वाली चाय पीने से बाल चमकदार, लम्बे, घने और डैंड्रफ़ फ्री रहते हैं।

पेट की बीमारी

पुदीने की चाय और पानी पेट की गैस, एसिडिटी, पेट का दर्द, दस्त और पेट की दूसरी समस्याओं का संभव इलाज करती है। पाचन तंत्र को सुधारने के अलावा खाना पचाने में भी पुदीने की चाय लाभदायक होती है। खाना खाने के आधे घंटे बाद 1 कप चाय पीने से पेट की बीमारियों से काफ़ी हद तक आराम मिल सकता है।

उल्टी और चक्कर

जिन लोगों को कार और बस से सफर करते हुए उल्टी या चक्कर आने की समस्या हो, उन्हें सफर से पहले एक कप पुदीने वाली चाय पी लेनी चाहिए।

अच्छी याददाश्त

कमज़ोर याददाश्त और भूलने की बीमारी से पीड़ितों के लिए पुदीने की चाय लाभकारी है। इससे एकाग्रता भी आती है।

याददाश्त तेज़ बनायें

पुदीने के अन्य लाभ

पुदीने के औषधीय गुण

– गरमी और बारिश के मौसम में पेट से जुड़ी कई तरह की बीमारियों के संक्रमण का ख़तरा बढ़ जाता है। इनसे बचने और इलाज के लिए पुदीने का प्रयोग करना चाहिए।

– गर्मी में लू की समस्या से बचने में भी पुदीना आपकी हेल्प कर सकता है।

– गले की खराश हो जाए तो पुदीने के रस में नमक मिलाकर कुल्ला और गरारा करने से गला साफ होता है।

– पुदीना एक प्राकृतिक माउथ फ़्रेशनर है।

Keywords – Pudine Wali Chai, Pudine Ki Chai, Pudine Wali Chay, Pudine Ki Chay, Mint Tea Recipe, Pudine Ke Fayde, Pudine Ke Labh