तुझे सूरज कहूँ या चंदा, तुझे दीप कहूँ या तारा। मेरा नाम करेगा रोशन, जग में मेरा राज दुलारा। इस गीत से पुत्र के प्रति प्रेम की ललक स्पष्ट जाहिर होती है। भारत ही नहीं विश्व के लगभग हर समाज को हम पुरुष प्रधान कह सकते हैं इसलिए कहीं न कहीं सभी माता-पिता के मन में पुत्र प्राप्ति की चाह रहती है। अधिकांश लोग यही मानते हैं कि लड़कियाँ शादी करके अपने ससुराल चली जाती हैं जबकि बेटा उनके बुढ़ापे का सहारा होता है।

पुत्र प्राप्ति के लिए प्रयास

इस तरह की अनेक मनोभावनाओं के चलते समाज में पुत्र की प्राप्ति के लिए अनेक प्रयास चलते रहते हैं। कुछ लोग डॉक्टरों के चक्कर लगाते हैं तो कुछ लोग ज्योतिष पर विश्वास कर अनेक उपाय करते हैं कुछ ऐसी भी हैं जो टोटकों जैसी कुरीतियाँ अपनाकर पुत्र प्राप्त करने के लिए आतुर रहते हैं।

पुत्र प्राप्ति के उपाय

समाज हमसे ही बना है और हम ही जो समाज में रहने वाले किसी व्यक्ति को बार-बार किसी न किसी बहाने से यह जताते रहते हैं कि उसे पुत्र रत्न की प्राप्ति नहीं हुई है। ऐसी स्थिति में कोई भी कुछ भी करके पुत्र प्राप्त करने की कोशिश करता है। कोई पुत्र प्राप्ति के लिए व्रत रखता है तो कोई पुत्र प्राप्ति के मंत्र जपता है और कोई पुत्र प्राप्ति के स्तोत्र का पाठ करता है। आस्था रखना या विश्वास करना ग़लत नहीं है लेकिन अंधविश्वास कभी कभार व्यक्ति को पागल कर देता है जिससे वह अपराध कर बैठता है।

पुत्र प्राप्ति से जुड़े अपराध

इस सम्बंध में हुए अपराध इस लिंक पर देखे जा सकते हैं –
http://goo.gl/fwtwXh

गली कूचे में अपनी दुकान खोले बैठे अनेक ठग और नीम-हकीम अपनी अपनी दुकान चला रहे हैं। शिक्षा और टेक्नोलॉजी के काल में भी बाबाओं और तांत्रिकों की दुकानों पर भीड़ कम होने का नाम ही नहीं ले रही है। पढ़े लिखे हों या भोले भाले अनपढ़ इन जालसाजियों के शिकार खुद-बखुद हो रहे हैं।

आज विश्व के हर समाज में लड़कियाँ क्या कुछ नहीं कर रही हैं, वो चाहे बिजनेस मैनेजमेंट हो या स्पेस इंजीनियरिंग। कई क्ष्रेत्रों में तो लड़कियाँ लड़कों से भी आगे निकल गयी हैं। लेकिन समाज लड़कियों को अभी भी पराया धन ही समझता है और लिंग भेद जैसे मामले रोज़ सामने आते हैं।

आपको पुत्र प्राप्ति के उपाय जानने के लिए किसी बाबा के पास जानने की ज़रूरत नहीं है, आप इंटरनेट पर ही अनेक टोटके खोज सकते हैं। आज इंटरनेट पर भी इन बाबाओं ने अपनी दुकान शुरु कर दी है और अनेक लोग अंधविश्वास के चलते इनकी दुकानों के बारे में सोशल मीडिया पर भी शेअर कर रहे हैं। आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऐसे अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाली साइटों की पूरी जानकारी मिल जाती है।

पुत्र प्राप्ति के उपाय

यह लिंक पुत्र प्राप्ति के लिए क्या करें कीवर्ड के सर्च परिणाम दिखाता है –
http://goo.gl/nRZ1fr

इस कीवर्ड के लिए खोज परिणाम अनेक वैज्ञानिक दृष्टिकोण वाले लिंक भी दिखाते हैं। कृपया उन्हें छोड़ दें।

सर्च परिणाम सम्बंधित जानकारी हमने मात्र वैज्ञानिक चेतना बढ़ाने के तहत उपलब्ध करायी है। हमारा उद्देश्य किसी की मनोभावों को ठेस पहुँचाना नहीं है।

नये शोध बताते हैं कि पुत्र के जन्म के लिए स्त्री नहीं पुरुष जिम्मेवार है क्योंकि स्त्री के अंडाशय में दो X क्रोमोसोम होते हैं जबकि पुरुष के शुक्राणुओं में एक X और एक Y क्रोमोसोम होते हैं। गर्भाधान के समय यदि स्त्री का X क्रोमोसोम पुरुष के X क्रोमोसोम से मिल जाये तो लड़की का जन्म होता है और यदि स्त्री का X क्रोमोसोम पुरुष के Y क्रोमोसोम से मिल जाये तो लड़के का जन्म होता है।

यदि इस सर्वमान्य वैज्ञानिक तथ्य को सच माने तो लड़की या लड़के के जन्म के लिए पुरुष ही जिम्मेवार है। किसी स्त्री द्वारा लड़के को जन्म न देने के लिए दोषी ठहराना सर्वथा अनुचित है।

Keywords: putra prapti ke ayurvedic upay, putra prapti mantra hindi, putra prapti vrat, putra prapti ashtakam, putra prapti ke totke, putra prapti stotra, putra prapti yoga, putra prapti ke din, putra yog, putra yog in kundli, putra prapti mantra

loading...