हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ हमें हर तरह से पोषण देती हैं। अक्सर जानकारी न होने पर हम सब्ज़ियों की पत्तियों को कूड़ेदान में फेंक देते हैं जो मैग्नीशियम और कैल्शियम का सबसे बड़ा सोर्स होती हैं। इंग्लैंड की लिसेस्टर यूनिवर्सिटी में हुई स्टडी के मुताबिक, हरी सब्ज़ियों के पत्ते खाने से शुगर के ख़तरे को 14 फीसदी तक कम किया जा सकता है। तो आइए जानते हैं कि किस सब्ज़ी की पत्तियाँ ज़्यादा फायदेमंद होती हैं।

हरी सब्ज़ियों के पत्ते बड़े लाभकारी

हरी सब्ज़ियों के पत्ते बड़े लाभकारी

पालक

पालक लगभग हर घर में खाई जाती है। गर्भावस्था के दौरान और साथ ही उन महिलाओं के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है, जिनको एनीमिया की शिकायत है। इसमें बहुत सारा आयरन पाया जाता है। इसके डंठल और पत्तियों दोनों में ही बहुत सारा आयरन पाया जाता है, तो जब भी पकाएँ तो इसका डंठल अलग न करें।

सरसों का साग

हरी सब्ज़ियों के पत्ते की बात करें तो सरसों की पत्तियों में काफ़ी मात्रा में विटामिन होता है। इसके अलावा यह आपकी हड्डियों को मजबूत बना कर गठिया रोग और ऑस्टियोपोरोसिस से बचाता है।

सूपरफूड ब्रॉक्ली

ब्रॉक्ली में बहुत सारा एंटी ऑक्सीडेंट, फाइबर, कैल्शियम, विटामिन सी और मैग्नीशियम पाया जाता है। इसको खाने से लो बीपी की प्रॉब्लम कंट्रोल में रहती है।

गोभी की पत्तियाँ

गोभी जैसी हरी सब्ज़ियों के पत्ते कैल्शियम और आयरन के अच्छे स्रोत होते हैं। इन पत्तियों में जितनी मात्रा में कैल्शियम होता है, उतना किसी दूसरी सब्ज़ी में नहीं होता। इसकी पत्तियाँ फ़ाइबर का भी अच्छा सोर्स होती हैं। इसकी पत्तियों को खाने से एक ओर जहाँ हड्डियाँ मजबूत होती हैं वहीं इससे पाचन क्रिया भी अच्छी रहती है। यह इम्यूनिटी बढ़ाने में भी काफ़ी कारगर है।

शलजम की पत्तियाँ

शलजम की पत्तियों में विटामिन ए और के, मिनरल, अमीनो एसिड, कैरोटीन और ल्यूटीन पाया जाता है। शलजम के छोटे-छोटे पत्तों को काटकर लोहे की कड़ाही में बनाने से आयरन मिलेगा। शलजम की पत्तियों को किसी दूसरी सब्ज़ी के साथ मिला कर पकाने से उसका कड़वापन ख़त्म हो जाता है। सलाद के रूप में शलजम की पत्तियों का खाना चाहिए।