मेरी छोटी बहन पूजा अक्सर जब भी कुछ पढ़ती है तो वह भूल जाती है। वो कितनी मेहनत से याद करने का प्रयास करती है लेकिन न जाने क्यों वो याद करने के बावजूद वो बार बार भूल जाती है। ये देखकर मेरी दोस्त की दादी ने कुछ गुणकारी औषधि के नाम और उपयोग बताएं जिनके नियमित उपयोग से स्मरण शक्ति बढ़ती है और दिमाग़ कम्प्यूटर से भी तेज़ चलने लगता है। इसके अलावा याददाश्त बढ़ाने के योग भी बताए जिनके नियमित उपयोग से मेरी बहन की स्मरण शक्ति बढ़ी तो आप भी इन औषधि को उपयोग में लाएं और दिमागी शक्ति को तेज़ बनाएं।

स्मरण शक्ति बढ़ाने के टिप्स

स्मरण शक्ति बढ़ाने के उपाय

1. दालचीनी

किचन में मसालों के रूप में उपयोग होने वाला दालचीनी न केवल एक मसाला है लेकिन ये एक औषधि भी है। रात को सोने से पहले एक चुटकी दालचीनी के पाउडर को शहद के साथ मिलाकर लेने से मानसिक तनाव कम होता है और स्मरण शक्ति बढ़ती है इसलिए इसका उपयोग ज़रूर करें।

2. हल्दी

किचन में आसानी से उपलब्ध होने वाली हल्दी न केवल भोज्य पदार्थों में बल्कि औषधि बनाने के लिए भी उपयोग की जाती है। हल्दी न केवल कई रोगों को दूर करने वाली एक रामबाण औषधि है बल्कि यह दिमाग़ की शक्ति को बढ़ाने में भी मदद करती है। कैलिफ़ोर्निया यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध के अनुसार, हल्दी में कुरकुमीन नामक एक रसायन पाया जाता है जो की दिमाग की मृत या निष्क्रिय कोशिकाओं को सक्रीय करने में सहायक होता है इसलिए अगर आप इसका उपयोग भोजन नहीं करते है तो अब करना शुरू कर दें ताकि आपकी दिमाग़ी शक्ति बनी रहें।

3. शंख पुष्‍पी

दिमाग़ी शक्ति को बढ़ाने वाली शंखपुष्पी गुणकारी औषधि है। प्रतिदिन आधा चम्मच शंख पुष्पी को एक कप गरम पानी में मिला कर पीने से आप किसी भी चीज़ को लम्बे समय तक याद रख पाते हैं और आपकी स्मरण शक्ति भी बढ़ती है। इसके नियमित सेवन से दिमाग़ में रक्त का संचार अच्छे से हो पाता है जिससे याद करने की क्षमता बढ़ती है।

4. तुलसी

तुलसी एक औषधि है जो एंटीबायोटिक जड़ी बूटी भी है। इसमें मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट तत्व मष्तिष्क और हृदय में रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाती है। यह मानसिक तनाव को कम कर दिमागी शक्ति को बढ़ाती है। इसलिए तुलसी का उपयोग नियमित करें।

5. ब्राह्मी

बाह्मी दिमाग़ी शक्ति को बढ़ाने वाली सबसे उत्तम औषधि है। एक चम्मच शहद और आधा ब्राह्मी गर्म पानी में मिलाकर पीने से याददाश्त बढ़ती है इसलिए स्मरण शक्ति को बढ़ाने के लिए इसका नियमित उपयोग करें।

6. अखरोट

याददाश्त बढ़ाने के लिए नियमित रूप से अखरोट का सेवन करें। 20 ग्राम अखरोट में 10 ग्राम किशमिश मिलाकर प्रतिदिन सेवन करने से लाभ प्राप्त होगा।

7. बादाम

9 बादाम रात में भिगोकर सुबह छिलके उतारकर बारीक़ पीस कर पेस्ट बना लें। अब एक गिलास गरम दूध में बादाम का पेस्ट और 3 चम्मच शहद मिलाकर पीने से याददाश्त बढ़ती है।

स्मरण शक्ति बढ़ाने के योग

भद्रासन योग विधि

सबसे पहले एक आसन को बिछाएं और वज्रासन की स्थिति में बैठ जायें। अब पैर के पंजों को इस तरह से रखे की पैरों की उंगलियों का संपर्क ज़मीन से रहे और नितम्ब पंजों के बीच में रहें। दोनों हाथों की हथेलियों को नीचे की ओर घुटनों पर रखें। शरीर को स्थिर और गर्दन सीधी रहनी चाहिए। अब नाक के अग्र भाग पर दृष्टि केंद्रित करते हुए साँस लें।

लाभ

इस आसन से शरीर में फुर्ति रहती है। एकाग्रता शक्ति बढ़ती है और दिमाग़ तेज़ होता है। इस याददाश्त बढ़ाने के योग को नियमित करें।

आज से ही इन दादी माँ के नुस्खों को अपनाएं और दिमाग़ी ताक़त को तेज़ बनाएं