आपकी लाइफ़ में टेंशन डेली आ सकता है। लेकिन कुछ दिन दूसरे दिनों से ज़्यादा बुरे होते हैं, शायद ही कोई ये कह सकता है कि वो 100% स्ट्रेस फ़्री है। स्ट्रेस अमीरी ग़रीबी नहीं देखता है, इसका शिकार कोई भी हो सकता है, इससे बचने का कोई उपाय नहीं है। लेकिन फिर भी आप स्ट्रेस कम करके इससे होने वाले नुक़सान को कम कर सकते हैं।

स्ट्रेस कम करने के सुझाव

स्ट्रेस कम करने के उपाय

ये पाँच दमदार टिप्स आपको किसी भी परिस्थिति में स्ट्रेस ख़त्म करने की शक्ति देंगी।

1. हेल्दी खाना खायें

यद्यपि अधिकांश स्ट्रेस मानसिक होती है, लेकिन बहुत से शारीरिक कारण भी इसको बढ़ा देते हैं। स्ट्रेस को कम करने के लिए आपको अपने शरीर का ख़याल रखना चाहिए। इसके लिए सबसे ज़रूरी है कि आप स्वास्थ्यप्रद भोजन करें।

एंटी स्ट्रेस फ़ूड में कोई मैजिक नहीं होता है। आपको एसिडिट फ़ूड की जगह एल्कलाइन डाइट लेनी चाहिए। बेकिंग सोडा, नींबू, प्याज़, अन्नानास, कद्दू के बीज, शकरकंद, सब्ज़ियों का जूस और तरबूज एल्कलाइन फ़ूड के उदाहरण हैं।

2. सुबह जल्दी उठें

इस बात में सच्चाई है कि अगर आप भरपूर नींद लेंगे तो स्ट्रेस से दूर रहेंगे। लेकिन फिर भी सुबह 15 से 20 मिनट पहले उठने से आपको सोने से अधिक फ़ायदा मिलेगा।

अपने आप को थोड़ा समय देने से आप सुबह सुबह जल्दबाज़ी से बचेंगे। जिससे आपको सुबह की तैयारियाँ करने के लिए ज़्यादा समय मिलेगा और आपमें कॉन्फ़िडेंस बढ़ेगा।

सुबह देर से उठें तो तैयारियाँ करने की बात सोचकर ही स्ट्रेस बढ़ जाता है, इसलिए जल्दी उठने की आदत डाल लें।

3. स्ट्रेस को मोटिवेशन बनायें

हममें से कोई भी स्ट्रेस को 100% ख़त्म नहीं कर सकता है, इसलिए आपको स्ट्रेस को मोटिवेशन की तरह देखना चाहिए। स्ट्रेस का मानसिक और शरीरिक प्रतिक्रिया आपको या तो प्रॉब्लम से लड़ने की शक्ति देती है या परिस्थिति को भागने पर मज़बूर कर देती है।

इसलिए अगली बार जब आपको स्ट्रेस हो तब आप ज़रूरी क़दम उठायें और स्ट्रेस को अपना हथियार बना लें।

4. हँसने का बहाना ढूँढ़ लें

ये बड़ी ही प्रैक्टिकल बात है कि हँसी मज़ाक़ से स्ट्रेस को कम किया जा सकता है। इसलिए आप जब भी स्ट्रेस में हो तो कॉमेडी सीरियल देखें, चुटकुले पढें और दोस्तों के साथ हँसी मज़ाक में शामिल हों। इससे एंग्ज़ाइटी कम होगी और आप अधिक ख़ुश रहेंगे।

5. बाहर घूमने जाएँ

दिन में घूमने टहलने से आप डॉक्टर के पास जाने से बच सकते हैं। इससे जो कार्डियोवस्कुलर एक्टिविटी होती हैं वह शरीर में एंडोर्फिंस बढ़ाती है, जिससे डिप्रेशन कम हो जाता है और आपका मूड अच्छा रहता है। इस तरह आप स्ट्रेस फ़्री रहते हैं और ज़्यादा सजग बनते हैं।

बहुत से अध्ययनों से पता चला है कि बाहर घूमने जाने से स्ट्रेस कम होता है, इसलिए जब भी घूमने का मौक़ा मिले उसका पूरा लाभ उठायें। यह आपको ऊर्जा देगा और आपकी स्मरण शक्ति को 20% तक बढ़ा देगा।

भारतीय सभ्यता में सुबह हरी घास पर घूमने के अनेक लाभ के बारे में बताया गया है।

इसलिए सच को स्वीकार करें कि स्ट्रेस फ़्री होना मुमकिन नहीं है लेकिन आपको उन ट्रिगर को हटा सकते हैं, जिनसे आपको परेशानी होती है। इसलिए उपरोक्त बातों का ध्यान रखने के साथ साथ आपको सदैव मन को शांत रखने का भी प्रयास करते रहना चाहिए।