किसी भी बीमारी की गंभीरता और उसके खतरे का पता उसके लक्षणों के प्रभाव से चल जाता है। स्वाइन फ़्लू वायरस यानि एच1एन1 ‌_ Swine Flu Virus H1N1 ज़्यादा खतरनाक नहीं होता है। लेकिन ज़रा सी अनदेखी से स्वाइन फ्लू से जान भी जा सकती है। इस बीमारी के लक्षण हर मरीज़ में अलग-अलग होते हैं। लेकिन शुरुआती लक्षण आमतौर पर एक जैसे ही होते हैं।

सुअरों में इंफ्लुएंजा वायरस _ Influenza Virus से संक्रामक रोग स्वाइन फ्लू फैलता है। जो इंसान सुअरों की देखभाल करते हैं या उनके नज़दीक रहते हैं, को यह संक्रमण आसानी से हो सकता है। ये वायरस छींक और बलगम के माध्यम से मनुष्यों में फैलता है।

स्वाइन फ़्लू वायरस से सुरक्षा
Swine flu virus precautions & cure

स्वाइन फ़्लू वायरस से संक्रमण के लक्षण

स्वाइन फ्लू की शुरु सर्दी जुकाम से होती है। लेकिन कुछ अन्य लक्षण हैं जो इसे सामान्य सर्दी बुखार से अलग करते हैं। आइए इनके बारे में जानें:

– नाक से पानी बहना
– भूख का लगातार कम होना
– सांस लेने में परेशानी और छाती में भारीपन महसूस होना
– सिर दर्द, बदन दर्द और तेज़ बुखार होना
– गले में इंफ़ेक्शन, जलन, सूजन, खांसी, उल्टियां और दस्त की शिकायत होना
– तेज़ ठंड लगना और गला ख़राब हो जाना
– बार बार जी मिचलाना और उल्टी आने जैसा लगना
– कमज़ोरी लगना, सिर घूमना और चक्कर आना

अगर कोई व्यक्ति स्वाइन फ्लू की गिरफ्त में होता है तो उसमें उपरोक्त कुछ लक्षण अवश्य दिखाई देते हैं।

Learn More About Swine Flu Myths

Wear face mask during Swine flu
Wear face mask during Swine flu

घर और ऑफ़िस को स्वाइन फ्लू वायरस से बचाना

1. घर के अंदर और आस-पास की जगहों पर नियमित सफाई करें।
2. रहने और खेलने की जगहों पर गंदा पानी जमा न होने दें।
3. स्वाइन फ़्लू वायरस से संक्रमित मरीज़ को अलग कमरे में रखें और उसके कमरे को अच्छे से साफ करें। उसकी उपयोग की वस्तुओं को भी अलग कर दें।
4. एच1एन1 वायरस की चपेट में आ चुके व्यक्ति को मास्क पहनाएं और उसके आस पास के लोग भी मास्क पहनें।
5. नाक पोंछने और छींकते समय मुँह पर रखने के रुमाल या टिशू पेपर प्रयोग करें। जिसे प्रयोग के बाद कूड़ेदान में या सही जगह डिस्पोज़ करें।
6. घर पर दरवाजे के हैंडल, टीवी रिमोट, कम्प्यूटर कीबोर्ड, मोबाइल आदि को प्रयोग से पहले अच्छे से साफ़ करें।
7. सभी को काम करने से पहले और बाद में अपने हाथ साबुन या डेटॉल से धोने चाहिए।
8. अपने चेहरे और नाक पर बार-बार बिना कारण हाथ न ले जाएं।
9. स्वाइन फ्लू वायरस का संक्रमण फैलने पर स्मोकिंग और स्मोकिंग करने वालों से दूर रहें।
10. जुकाम बुखार या अन्य कोई दूसरे लक्षण नज़र आने पर आप अधिक से अधिक पानी पिएं ताकि शरीर में पानी की कमी न होने पाए।
11. ज़्यादा से ज़्यादा आराम करें। थकान वाले काम न करें। पूरी नींद लें।
12. दिन में कुछ देर धूप सेंकना फ़ायदेमंद होता है।