योग करने की आवश्यकता: हम सभी अपने बड़ों से सुना है कि इलाज करने से बेहतर है बचाव। आज कल काम काज के बोझ, रहन-सहन और खाने पीने की चीज़ों में की जाने वाली मिलावट के कारण अनेक तरह की बीमारियां पैदा हो गईं हैं। जो कोई भी किसी प्रकार की बीमारी का शिकार है या आगे बीमार नहीं पड़ना चाहता है, उसको दो बातों का पूरा ध्यान रखना होगा।

1. हेल्दी फ़ूड – घर पर बना सादा भोजन खाएं और जंक फ़ूड को स्वाद लेने तक ही सीमित रखें। ऑर्गैनिक रूप से उगाए गए फल और सब्ज़ियां खाएं।

2. योग – शरीर को चुस्त दुरुस्त बनाएं रखने के लिए खान पान के साथ-साथ योग का सहारा भी लें। योग से बीमारियां न केवल दूर होती हैं, बल्कि कई तरह की बीमारियों का इलाज भी होता है। योग से मानसिक तनाव दूर होता है और व्यक्ति ज़्यादा एक्टिव हो जाता है।

योग करने की विधि
Yoga pranayam karne ki vidhi

योग करने की टिप्स

योग एक प्रकार की उपचारात्मक क्रिया है जो शरीर, मन और मस्तिष्क तीनों को सही तरह से काम करने की ऊर्जा देती है। इससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। नियमित रूप से योग करने वाले को कभी डॉक्टर का मुँह नहीं देखना पड़ेगा। लेकिन अगर आप योग को सही तरीके से नहीं करते हैं तो लेने के देने भी पड़ सकते हैं।

इस आलेख में आपको योग कैसे करें, योग के नियम, योग के फायदे और नुकसान बताए जाएंगे।

योग करने के नियम

योगासनों का पूरा लाभ लेने के लिए आवश्यक है कि आपको योग के नियम पता हों और आप उनका पालन भी करें।

– योग हमेशा खाली पेट करें। अगर आप शाम को योग करना चाहते हैं तो खाना खाने के 4 घंटे बाद योगासन करें। योग करने से तुरंत पहले या बाद में कुछ नहीं खाना चाहिए।

– योगासन करते हुए सांस नाक से लेनी चाहिए न कि मुँह से। सांस नाक से लेकर मुँह से छोड़ी जाती है।

– योग-प्राणायाम सदैव स्वस्छ और खुले स्थान पर करना चाहिए।

– योग करने के लिए बैठने की मुद्रा एकदम ठीक होनी चाहिए। सिद्धासन और पदमासन की मुद्रा में कमर को एकदम सीधा करके योग करना चाहिए।

– कोई महिला, पुरुष और बच्चा जिसे बुखार आ रहा हो, उसे योग नहीं करना चाहिए।

– गर्भवती महिला और गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को डॉक्टरी परामर्श के बाद ही योग करना चाहिए।

योग करने की सही विधि

– अगर सुबह सुबह योग किया जाए तो सारा दिन शरीर चुस्त दुरुस्त और स्फूर्ति से भरपूर रहता है। एक एक्टिवनेस और ऊर्जा बनी रहती है। सुबह सुबह हमारा मन शांत होता है और प्रदूषण स्तर कम होने के कारण वायु भी साफ होती है।

– योग करने के लिए हल्के और खुले कपड़े पहनें। खुले कपड़े पहनने से आप सभी योगासन आसानी से कर सकेंगे। योग करने से पहले गहने और घड़ी इत्यादि को उतारकर रख दें।

– नियमित रूप से योग करने की आदत बनाएं। इससे मानसिक विकास होगा और एकाग्रता शक्ति बढ़ेगी। आपका दिमाग एक्टिव रहेगा जिससे याद की हुई चीज़ें लम्बे समय तक याद रहेंगी। चीज़ें सोचने समझने में भी आसानी होगी। पॉजिटिव ऊर्जा का संचार होगा।

– योगाभ्यास शुरु करते समय सभी आसन एक दिन में करने की सोच न रखें। इससे आपको पहले दिन ज़्यादा थकान नहीं होगी और अगले दिन योग के लिए उत्साह बना रहेगा। योग करने का समय भी धीरे धीरे बढ़ाना चाहिए।

– योग की शुरु आप समूह में करें ताकि नियमित योग करने की प्रेरणा बनी रहे। आप योग केंद्र में भी एडमिशन ले सकते हैं।

– योग का लाभ लेने के नियम के अनुसार नियमित योग करना पड़ेगा। अगर आप सोचते हैं कि 30 दिन में सारे आसन खत्म करके आपका काम बन जाएगा तो यह बिल्कुल गलत है।

योग के लाभ
Yoga benefits in Hindi

योग के फायदे

– योग प्राणायम करते हुए गहरी लम्बी सांस ली जाती है, जिससे ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ हो जाती है। फलस्वरूप फेफड़ों में अधिक ऑक्सीजन पहुंचती है और हम वायु जनित बीमारियों से लम्बे समय तक बचे रहते हैं।

– शरीर लचीला बनता है और बदन दर्द की शिकायत नहीं रहती है।

– मानसिक तनाव, चिंता और अवसाद से मुक्ति मिलती है।

– योग करते हुए शरीर के सभी अंग काम करते हैं जिससे पूरा शरीर और हर अंग मजबूत होता है।

– रक्त संचार अच्छा हो जाता है, जिससे ब्लड प्रेशर और डायबिटीज जैसी बीमारियों का सामना नहीं करना पड़ता है। ये बीमारियां पहले से हों तो सब कंट्रोल हो जाता है।

– पाचन तंत्र से जुड़ी सभी बीमारियां खत्म हो जाती हैं और खाए हुए भोजन से सभी पोषक तत्व शरीर को मिलने लगते हैं।

– वज़न घटाना हो या फिर बढ़ाना हो, योग दोनों काम में आपकी मदद करता है। दोनों ही काम के लिए पाचन तंत्र को स्वस्थ रखना होता है, जो कि योग से संभव है।

– दिमागी काम करने वाले व्यक्तियों को योग करने से मानसिक आराम और शांति मिलती है।

– कमज़ोर याददाश्त, भूलने की बीमारी और अल्ज़ाइमर में योग करने से लाभ मिलता है।

– योग किया जाए तो इम्यून सिस्टम मजबूत होता है, जिससे बदलते मौसम का शरीर पर असर कम होता है।

– गंभीर बीमारियों के इलाज में भी योग असरदार औषधि की तरह काम करता है।

– आंख, त्वचा और बालों के लिए योग क्रिया लाभदायक है। इससे चेहरे झुर्रियां नहीं आती हैं, आखों की रोशनी बढ़ती है और बाल झड़ने कम हो जाते हैं।

योग के नुकसान

अफवाहों पर ध्यान न दें कि योग करने से कोई नुकसान भी होता है। योग को सही तरीके से न करने पर दुष्परिणाम हो सकते हैं। जिनसे बचने के लिए आप योग प्राणायाम के लिए योगा क्लासेज ज्वाइन कर लें। ताकि आपको योगासनों की सारी जानकारी हो जाए।

आज कल टीवी चैनलों पर योग को लेकर कई प्रोग्राम आते हैं, जिनसे आप योग करना सीख सकते हैं। साथ आपको बाज़ार में योग की सीडी भी मिल जाएगी, जिसमें योग के बारे में विस्तार से बताया गया होगा। जिसे देखकर आप योगाभ्यास कर सकते हैं।