आज सारी दुनिया योगासन के लाभ प्राप्त करना चाहती है। योगासनों के सतत अभ्यास से तनाव कुंठा निराशा शिथिलता आदि अनेक मनोरोगों से सहज ही मुक्ति पायी जा सकती है। इस बात से तो सारी दुनिया परिचित है कि योगासन के नियमित अभ्यास से शरीर में अधिक शक्ति और स्फूर्ति का अनुभव प्राप्त किया जा सकता है।

योगासनों के नियमित अभ्यास करने वाला व्यक्ति कभी मनोविकारों का शिकार नहीं हो सकता है और अधिक सक्षमतापूर्वक समस्याओं का सामना करने में समर्थ होता है।

योगासन के लाभमानसिक रोग में योगासन के लाभ

Yoga, Meditation & Mental Health

आज सभ्यता के विकास के साथ-साथ मानव जीवन मे जिस तीव्रता से मादक द्रव्यों (शराब, सिगरेट, ड्रग आदि) के सेवन की प्रवृत्ति बढ़ रही है। जो कि बड़ी चिंता का विषय है। मादक (नशीले) द्रव्यों का प्रयोग जहाँ मानसिक संतुलन को बिगाड़ देता है। वहीं शरीर को अस्वस्थ और अनेक रोगों का घर बना देता है जिससे सदा के लिए रोगग्रस्त रहने की संभावनाए अधिक हो जाती हैं।

कुछ लोग यह तर्क देते हैं कि जब अधिक काम करने से उनका मस्तिष्क थकान का अनुभव करता है तो उसकी ताज़गी और स्वस्थता के लिए वे अमुक मादक द्रव्य का सेवन करने लगते हैं। किन्तु यह एक बेकार का तर्क है, क्योंकि जिस प्रकार तपाये हुए गरम लोहे को ठंडा करने के लिए उस पर पानी डाल दिया जाये तो इससे वह ठंडा तो हो जाता है, किन्तु साथ ही साथ वह कमज़ोर भी हो जाता है। यही स्थिति मस्तिष्क और मादक द्रव्यों की भी है। मस्तिष्क की थकावट दूर करने के लिए केवल विश्राम ही उपयुक्त उपाय है। कई बार मस्तिष्क में कोई तनाव थकान या शिथिलता उत्पन्न हो जाती है। ऐसी अनेक समस्याओं के निराकरण के लिए योगासन के लाभ लिए जा सकते हैं और थोड़े ही समय में अभ्यास अत्यंत उपयोगी परिणाम देता है।

योगासनों के द्वारा शरीर, मन, आत्मा और मस्तिष्क में ऐसा संतुलन स्थापित होता है कि जीवन निर्वाह अबाधित गति से चलता रहता है। मन में सकारात्मक भाव आते हैं। ईर्ष्या, क्रोध आदि विकारों का नाश होता है।

अतः आधुनिक युग के तनावपूर्ण वातावरण में व्यक्ति को शांति और सुख प्राप्त करने के लिए योगासनों को नियमित अभ्यास करना चाहिए। अनेक प्रकार के मानसिक रोगों से मुक्ति पाने के लिए योगासन सबसे सहज उपाय हैं। जिसे आज ही से आप अपने जीवन में अपनाइए और कई रोगों से मुक्ति पाइए।

Keywords – Yoga benefits, Yoga for mental health, Yoga for tension release, Yogasan ke labh, Yoga ke labh