योग को अपने जीवन में अपनायें और निरोगी काया पायें। योग न केवल आपको शारीरिक रूप से बल्कि मानसिक रूप से भी स्वस्थ रखता है और आपको ताज़गी और स्फूर्ति भी प्रदान करता है। योग को अपनाकर न केवल आप रोग मुक्त हो सकते हैं, बल्कि एक बेहतर जीवन भी जी सकते हैं। अतः आज ही योग प्रारम्भ करने का प्रण लें। घर पर किस तरह से आप योग करके इससे अधिक से अधिक लाभांवित हो सकते हैं। इसी से सम्बंधित आज हम आपको जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं।

योग प्रारम्भ करने के 10 आसान टिप्स

योग प्रारम्भ करने के लिए टिप्स - Yoga Tips

1. सुविधाजनक समय चुनें

पतांजली योग सूत्र के अनुसार योग के लिए सबसे बढ़िया समय – ब्रह्ममुहूर्त यानि की सुबह का समय अर्थात सूर्य उदय होने का समय होता है। परन्तु यह आवश्यक नहीं कि आप सुबह ही योग करें। आप दिन के समय, दोपहर को या शाम को भी योग कर सकते हैं। खाना खाने के तुरंत बाद योग न करें, इस बात पर विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है।

2. सुविधाजनक जगह चुनें

योग प्रारम्भ करने के लिए आप ऐसा स्थान चुनें, जहां योग करने के लिए सही वातावरण हो। योग के समय आस पास का वातारण शांत होना चाहिए ताकि ध्यान में विघ्न न पड़े। आप अपने ड्राइंग रूप या टेरेस में भी योग कर सकते हैं। अगर आपके घर में लॉन हो तो सबसे बेहतर है, हरी नर्म घास पर बैठकर योगाभ्यास कीजिए।

3. योग ख़ाली पेट करें

ख़ाली पेट योग करना अधिक लाभदायक होता है। इसका अर्थ यह नहीं है कि योग करने के लिए आप उपवास रखें या भूखे रहें। ध्यान रहे खाना खाने के तुरंत बाद योग नहीं करना चाहिए ।

4. सुविधाजनक पोषाक पहनें

आसन करने के लिए पोषाक ढीली ढाली रखें ताकि आपको आसन करने में कोई बाधा न हो। आजकल विभिन्न प्रकार के योग वियर भी आते हैं, जिन्हें आप आसन करते समय पहन सकते हो, परन्तु आपके पास जो भी सुविधाजनक पोषाक हो आप उसे पहन कर भी कर सकते हैं।

5. सरल आसनों से प्रारम्भ करें

योग में आपको सरल आसनों से शुरुआत करने चाहिए और फिर धीरे धीरे कठिन आसनों को करने का अभ्यास करना चाहिए।

sukhasana steps

6. सुखासन से प्रारम्भ करें

सुखासन करने के लिए भूमि पर एक आसन या दरी बिछाकर उस पर बैठ जाएं और अपने दोनों पैर सामने रखें। अब आप अपने दाहिने पैर को बायीं जंघा के नीचे ले आयें, इस तरह कि आपकी दाहिनी एड़ी आपकी बायीं जंघा के नीचे रहे। अब अपने बाएं पैर को दाई जंघा के नीचे ले आयें। अर्थात्‌ अलथी पलथी मोड़ कर बैठ जाएँ। पीठ को सीधा रखें और दोनों हाथों को अपनी गोद में या घुटनों पर रखें। कंधों को ढीला छोड़ दें, गहरी लम्बी सांस लें और इस आसन पर लम्बे समय तक बैठने का प्रयास करें। आप चाहें तो इस आसन में प्राणायाम भी कर सकते हैं।

7. योग में श्वास की तकनीक सीखें

योग में कई तरह की श्वास सम्बंधित तकनीके होती हैं, जैसे प्राणायाम, कपालभारती आदि।

8. शरीर के साथ सहज रहें

पहले दिन किसी भी आसन का प्रारम्भ धीरे धीरे करें। अगर किसी आसान में आपको कोई कष्ट हो रही है तो उस आसन को न करें। शरीर को अधिक पीड़ा देने आवश्यकता नहीं है। धीरे धीरे ही आपका शरीर लचीला बनेगा और आप आसन करने में अभ्यस्त हो जायेंगे।

9. निरंतरता बनाये रखें

कोशिश करें कि आसन नित्य करें, चाहे थोड़े समय के लिए ही करें। अगर आप प्रतिदिन योग नहीं कर सकते है, तो सप्ताह में कोई दिन निश्चित करें और उसी दिन करें – जैसे की रविवार का दिन।

10. योग समूह बनायें

योग न केवल आप करें, बल्कि आप अपने परिवार और अपने मित्रों को भी इसमें सम्मिलित करें।